comScore
Dainik Bhaskar Hindi

अटलांटिक का कब्रिस्तान है ये नेशनल पार्क, यहां से नहीं लौटे 350 जहाज

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 15th, 2017 08:33 IST

1.3k
0
0

डिजिटल डेस्क, कनाडा। जंगली घोेड़े का घर, हम बात कर रहे हैं सेबल आइलैंड की। जैसा कि अब तक हम अनेक ऐसे आइलैंड के बारे में बता चुके हैं जो डरावने होने के साथ ही बेहद खतरनाक भी हैं। यहां लोगों का आना सख्त मना है। साथ ही ऐसे आइलैंड के बारे में भी जिक्र हो चुका है जो मौसम के अनुसार ही मिजाज बदल लेते हैं, मतलब किसी जीव जंतु की विशेष प्रजाति यहां प्रजनन के लिए पहुंचती है। आज हम बात कर रहे हैं ऐसे आइलैंड की जिसके बारे में सर्च करने पर जंगली घोड़ों के बारे में जानकारी निकलकर बाहर आती है...

350 जहाजों का कब्रिस्तान

दरअसल, यह अजीबोगरीब आइलैंड  इतना खतरनाक है कि यहां अब तक करीब 350 जहाजों का कब्रिस्तान बन चुका है। इसी वजह से इसे दरिया का कब्रिस्तान भी कहा जाता है। यह अनोखा और खतरों से भरा हुआ आइलैंड नोवा स्कोटिया से  करीब सौ मील की दूरी पर मौजूद है। इसकी लंबाई 42 किमी है और चौड़ाई 1.5 किमी बतायी जाती है। दुनिया भर में इसे दरिया का कब्रिस्तान के नाम से ही जाना जाता है और यह अटलांटिक महासागर में स्थित है। इसकी वजह से ही इसे अटलांटिक का कब्रिस्तान भी कहते हैं। 

घोड़ों का घर

इसके इतने खतरनाक होने के बारे में कहा जाता है कि यहां इतना अंधेरा है कि समुद्र की रेत नजर ही नही आती, इस वजह से जहाज यहां पहुंचते ही दुर्घटना का शिकार हो जाते हैं। 350 जहाजों की समाधि अब तक यहां बन चुकी है। 
यहां इतनी अधिक रेत है कि लगभग इसका जाल यहां फैला हुआ है, जिससे बचना पाॅसिबल नही है। हां, इस आइलैंड की एक खासियत भी है जिसकी वजह से ही इसे घोड़ों का घर कहा जाता है। यहां करीब 500 से भी ज्यादा जंगली घोड़े हैं वहीं 350 से ज्यादा पक्षियों की प्रजाति यहां आती है। यह कनाडा का 43वां नेशनल पार्क घोषित किया गया है। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर