comScore
Dainik Bhaskar Hindi

अनोखा मंदिर, यहां पुजारी के जल छिड़कते ही चलने लगती हैं मुर्दे की सांसें !

BhaskarHindi.com | Last Modified - July 27th, 2017 16:04 IST

4k
0
0
अनोखा मंदिर, यहां पुजारी के जल छिड़कते ही चलने लगती हैं मुर्दे की सांसें !

टीम डिजिटल, देहरादून. जापान में कब्र पहले से बुक होने लगी है, लोग मौत से पहले ही अपनी कब्र की तैयारी कर लेते हैं। दुनिया में एक ऐसी भी जगह है जहां मुर्दे दोबारा सांस लेने लगते हैं। ये सुनकर आपको आश्चर्य हो सकता है, लेकिन इसी जगह के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं। इस जगह के बारे में मान्यता है कि यहां पर मृत देह को अगर लाया जाए तो कुछ देर के लिए उसके शरीर में आत्मा दोबारा प्रवेश कर जाती है। हालांकि इस बारे में यह बात स्पष्ट नहीं है कि यह कैसे हो सकता है।

देहरादून से 128 किलोमीटर की दूरी पर स्थित लाखामंडल नामक स्थान पर है। यह मंदिर यमुना नदी की तट पर बर्नीगाड़ नामक जगह से सिर्फ 4-5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। समुद्र तल से इस स्थान की ऊंचाई लगभग 1372 मीटर है। इस मंदिर के बारे में मान्यता है कि यहां लाए गए शव पर पुजारी पवित्र जल छिड़के तो मरा हुआ इंसान दोबारा जीवित हो जाता है। जैसे ही वह भगवान का नाम लेकर गंगाजल ग्रहण करता है उसके शरीर से आत्मा निकल जाती है और उसे मुक्ति मिल जाती है। इस बात को सिर्फ बातों और लोगों के विश्वास के आधार पर ही माना जाता है। इसके पीछे का कारण,सच्चाई और वजह के बारे में कोई नहीं जानता। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download