comScore

गेहूं का गोलमाल : एफसीआई के शेड इंचार्ज सस्पेंड ,जीएम ने की कार्रवाइ

गेहूं का गोलमाल : एफसीआई के शेड इंचार्ज सस्पेंड ,जीएम ने की कार्रवाइ

डिजिटल डेस्क, सतना। यहां भारतीय खाद्य निगम के बिरला रोड स्थित वेयर हाउस से गेहूं के शार्टेज के मामले में आरोपित कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दिए जाने की चर्चा है। जानकार सूत्रों की मानें तो एफसीआई के भोपाल रिजनल हेड के जीएम ने वेयर हाउस के शेड प्रभारी राहुल रंजन को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए उन्हें एफसीआईके सागर मुख्यालय से संलग्न किया गया है। इसके अलावा एफसीआई के जीएम द्वारा एफसीआई सतना में हुए गेहूं की हेराफेरी सम्बंधित उच्चस्तरीय जांच करवाए जाने के लिए भोपाल के तीन अधिकारियों की  टीम गठित की थी। जिसने गुरुवार को भोपाल से यहां आकर अपनी कार्रवाई शुरू कर दी है। 

फिर शुरू हुई पड़ताल 

शीर्ष अधिकारियों की चुप्पी के बावजूद एफसीआई के कुछ सूत्रों की मानें तो भोपाल से जीएम के निर्देशानुसार आई तीन अधिकारियों की टीम ने उक्त मामले मं यहां बिरला रोड स्थित एफसीआई के जिला कार्यालय और वेयर हाउस में जांच शुरू कर दी है। इन्हीं सूत्रों के मुताबिक इसके पहले जिन दो टीमों से जांच करवाई गई थी, उनके द्वारा उक्त गोदाम में वास्तविक मात्रा से करीब साढ़े सात सौ क्विंटल गेहूं का शार्टेज होने की कथित पुष्टि की गई थी। जिसके आधार पर सम्बंधित शेड प्रभारी को सस्पेंड कर उसे सागर अटैच करने एवं भोपाल से तीन अधिकारियों को उक्त मामले की पुन: जांच करवाए जाने का निर्णय जीएम द्वारा लिया गया है। 

9 साल बाद दूसरा मामला

प्राप्त जानकारी के अनुसार एफसीआई सतना में खाद्यान्न के गेहूं की कथित हेराफेरी का 9 साल में दूसरा मामला है। इसके पहले रबी विपणन वर्ष 2010-11 में समर्थन मूल्य पर किए गए उपार्जन कार्य के तहत करीब 3200 क्विंटल गेहूं की हेराफेेरी किए जाने का मामला सामने आने पर शासन के निर्देशानुसार सीबीआई की 6 टीमों ने यहां एफसीआई कार्यालय एवं कुछ अधिकारियों ने भी दबिश दी थी।

सूरत भेजे गए गेहूं में भी शार्टेज

उधर सीडब्ल्यूसी सूरत के प्रबंधक द्वारा एक ऐसा पत्र सामने आया है, जिससे यह स्पष्ट होता है कि एफसीआई सतना द्वारा यहां 29 जून 2019 को एक रैक में सूरत भेजे गए गेहूं में करीब 38 मीट्रिक टन गेहूं की कमी थी। जिसका जिक्र सीडब्ल्यूसी सूरत के मैनेजर द्वारा 3 जुलाई को एफसीआई सतना के एरिया मैनेजर यहीं के डिपो मैनेजर एरिया मैनेजर एफसीआई बड़ोदरा, जनरल मैनेजर अहमदाबाद एवं रिजनल मैनेजर सीडब्ल्यूसी (आरओ) अहमदाबाद को लिखे गए संयुक्त पत्र में स्पष्ट तौर से किया गया है। उसी पत्र में सीडब्ल्यूसी सूरत के मैनेजर द्वारा यह भी उल्लेख किया गया है कि 42 रैक की ट्रेन में एफसीआई सतना द्वारा 29 जून को सूरत भेजे गए गेहूं से भरी बोरियों की कंडीशन मानक के अनुसार नहीं है। इसके अलावा लाट में इयर वाइज नहीं लिखे होने एवं मास्चर का प्रतिशत मानक के अनुरूप नहीं होने को लेकर भी सम्बंधित अधिकारियों को उक्त पत्र के जरिए जानकारी सीडब्ल्यूसी वेयर हाउस सूरत के मैनेजर द्वारा दी गई है।
 

कमेंट करें
2wBLn