comScore
Dainik Bhaskar Hindi

जब 'नए पैर' के साथ स्कूल पहुंची बच्ची, देखें दूसरे बच्चों ने क्या किया

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 16th, 2017 12:37 IST

419
0
0

डिजिटल डेस्क, बर्मिंघम। दिव्यागं होना किसी अभिशाप जैसा प्रतीत होता है, उसका दुख और उसकी परेशानी केवल वो दिव्यांग ही समझ सकता है। हमारे समाज में ऐसे लोगों से अक्सर दूर ही रहना सब ठीक समझते हैं क्योंकि लगता है जाने-अनजाने हमारी किसी बातों से उन्हें बुरा न लग जाए। हम लोग अक्सर दिव्यांगों को अजूबे की तरह देखते हैं जिससे उन्हें समाज मे आम लोगों की तरह रहना असहज महसूस होने लगता है और वो अपनी एक अलग ही दुनिया में रहना शुरू कर देते हैं।


जब प्लास्टिक के पैर के साथ स्कूल में रखा कदम

बर्मिंघम में रहने वाली भारतीय मूल की अनु 7 साल की हो गई है, अनु ने जन्म के कुछ साल बाद ही अपनी दाहिना पैर खो दिया था। लेकिन उसने सिर्फ अपना पैर खोया हिम्मत नहीं। और इसी हौसले की बदौलत उसे ये नई जिंदगी मिली है। वहीं अगर बच्ची की बात करें तो वो अपने इस पैर से काफी खुश है और उसे अपने इस नकली पैर का रंग बहुत पसंद आया। उसका कहना है कि गुलाबी रंग उसका पंसदीदा है।

बच्चों ने बढ़ाया हौसला
ये वीडियो यूट्यूब पर आते ही वायरल हो गया है, इसमें वीडियों वो लम्हा कैद है जिसको देखकर सब लोग भावुक और अचंभित एक साथ हो रहें हैं। देखिए जब अपना नया प्लास्टिक का पैर लेकर वो पहला कदम स्कूल में रखती है सभी बच्चे उसका कितने प्यार से स्वागत करते हैं और उसकी खुशी को अपने प्यार से ओर भी बढ़ा देते हैं। ये वीडियो बीबीसी मिडलैंड ने यूट्यूब पर अपलोड किया है जिसके बाद से अब तक सभी इस वीडियो को देखकर इस बच्ची के हौसले की दाद दे रहे हैं, साथ ही साथ बाकी बच्चों के रिएक्शन की भी खूब तारीफ की जा रही है। वीडियो में जैसे ही अनु स्पोर्ट्स ग्राउंड पहुंचती है उसे देखते ही सभी बच्चे उसकी तरफ दौड़ जाते हैं और उनमें एक लड़की उसके पैर की तारीफ में कहती है 'That's your new pink leg?' तभी पीछे से लड़की कहती है 'wow'। उसके बाद अनु भी बाकी बच्चों के साथ ग्राउंड में खेलने लग जाती है।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर