comScore

भाजपा से गठबंधन कर फायदे में रही शिवसेना, पिछले चुनाव की अपेक्षा मिले 2.47% ज्यादा वोट

भाजपा से गठबंधन कर फायदे में रही शिवसेना, पिछले चुनाव की अपेक्षा मिले 2.47% ज्यादा वोट

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मोदी सरकार में शामिल होने के बावजूद केंद्र की नीतियों की आलोचना करने वाली शिवसेना का इस लोकसभा चुनाव में भाजपा से गठबंधन कर लड़ने का फैसला फायदे का सौदा साबित हुआ है। साल 2014 के लोकसभा चुनाव के मुकाबले साल 2019 के चुनाव में शिवसेना को अधिक वोट मिले हैं। इस चुनाव में शिवसेना को 23.29 प्रतिशत वोट मिले हैं। जबकि भाजपा ने 27.59 प्रतिशत वोट हासिल किए हैं। साल 2014 के चुनाव में शिवसेना को 20.82 प्रतिशत वोट मिले थे। 2014 के मुकाबले अबकी बार शिवसेना को 2.47 प्रतिशत ज्यादा वोट मिले हैं। जबकि साल 2014 की तुलना भाजपा को इस बार 0.03 प्रतिशत ज्यादा वोट मिले हैं। साल 2009 के लोकसभा चुनाव में शिवसेना को 17 प्रतिशत और भाजपा को 18.17 प्रतिशत वोट मिले थे। 

कांग्रेस को लोकसभा चुनाव में 16.27 प्रतिशत वोट

दूसरी ओर विपक्षी दल कांग्रेस को साल 2019 के लोकसभा चुनाव में 16.27 प्रतिशत वोट मिले हैं जबकि राष्ट्रवादी कांग्रेस को 15.52 प्रतिशत लोगों ने मतदान किया। साल 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने 18.29 प्रतिशत और राष्ट्रवादी कांग्रेस को 16.12 प्रतिशत मत मिले थे। साल 2014 की तुलना में इस बार कांग्रेस को 2.06 प्रतिशत और राष्ट्रवादी कांग्रेस को 0.06 प्रतिशत कम वोट मिले हैं। वहीं साल 2009 के चुनाव में कांग्रेस को 19.61 प्रतिशत और राष्ट्रवादी कांग्रेस को 19.28 प्रतिशत वोट मिले थे। इस लोकसभा चुनाव में शिवसेना को ज्यादा वोट मिलने के बावजूद सीट जीतने में भाजपा आगे रही है। लोकसभा चुनाव में राज्य की 48 सीटों में से शिवसेना ने 23 सीटों पर लड़कर 18 सीटें हासिल की। जबकि भाजपा ने 25 सीटों पर उम्मीदवारे थे, जिसमें से पार्टी को 23 सीटें मिली हैं। चुनाव में भाजपा-शिवसेना युति को मिलाकर कुल 50.88 प्रतिशत वोट मिले हैं।

ज्यादा वोट के बावजूद सीटों में पिछड़ी कांग्रेस

वहीं इस चुनाव में कांग्रेस ने राष्ट्रवादी कांग्रेस से ज्यादा वोट हासिल किया लेकिन पार्टी केवल एक सीट पर चुनाव जीत पाई। जबकि राष्ट्रवादी कांग्रेस ने 4 सीट पर जीत दर्ज की है। कांग्रेस-राष्ट्रवादी कांग्रेस महागठबंधन को 31.79 प्रतिशत वोट मिले हैं। युति को महागठबंधन के मुकाबले 19.01 प्रतिशत ज्यादा वोट मिले हैं। इस चुनाव में कांग्रेस ने 25 और राष्ट्रवादी कांग्रेस ने 19 सीट पर प्रत्याशी उतारे थे। जबकि महागठबंधन ने स्वाभिमानी शेतकरी संगठन को 2, बहुजन विकास आघाडी को 1 और युवा स्वाभिमान पक्ष को एक सीट दी थी। 

महाराष्ट्र में पिछले तीन लोकसभा चुनाव में पार्टियों को मिले वोट प्रतिशत 

पार्टी        साल 2019      साल 2014      साल 2009

भाजपा    -    27.59        27.56           18.17
शिवसेना   -   23.29        20.82            19.61
कांग्रेस      -  16.27         18.29             19.28
राष्ट्रवादी कांग्रेस - 15.52     16.12              17.00

साल 2019 के लोकसभा चुनाव में दलवार स्थिति

भाजपा - 23
शिवसेना- 18
राष्ट्रवादी कांग्रेस- 4
कांग्रेस  -  1
एमआईएम - 1
निर्दलीय -1
कुल सीटें - 48 

लोकसभा चुनाव में सबसे अधिक और सबसे कम वोट से जीतने वाले उम्मीदवार 

गोपला शेट्टी - भाजपा   वोट- 4,65, 247
इम्तियाज जलील- एमआईएम  वोट - 4,492 


 

कमेंट करें
sRM56