comScore

दहेज नहीं मिला तो पति ने चरित्र को लेकर उठाई उंगली, तंग आकर पत्नी ने दे दी जान

दहेज नहीं मिला तो पति ने चरित्र को लेकर उठाई उंगली, तंग आकर पत्नी ने दे दी जान

डिजिटल डेस्क, नागपुर। उपराजधानी में एक विवाहिता देहज की बली चढ़ गई। उसपर चरित्र संदेह को लेकर भी गंभीर आरोप लगाए गए थे। मामला नंदनवन थाने से जुड़ा हुआ है। पुलिस ने पति, सास और ननद के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पति निखिल पवार की उम्र 32 साल है, उसकी मां अलका पवार उम्र 55 साल और बहन हर्षा गिरमकर उम्र 35 साल दर्शन कॉलोनी के निवासी है। करीब सात महीने पहले निखिल की शादी पूजा उम्र 27 साल से हुई थी। शादी के कुछ दिनों बाद ही निखिल सहित परिवार के अन्य सदस्यों ने दहेज के लिए पूजा को प्रताड़ित करना शुरु किया। यह सिलसिला फरवरी 2019 से 9 जुलाई 2019 तक चलता रहा। दरअसल जब शादी की बात शुरु हुई थी उस वक्त निखिल और उसके परिजन ने ढाई तोला सोना और नकदी बतौर देहज मांगे थे। 

पूजा के पिता नही है, मां ने अपनी हैसियत के अनुसार एक तोला सोना निखिल को दिया, लेकिन बाकी सोना और रकम वह नहीं जुटा पाई। जिससे खफा पूजा को परेशान किया जाने लगा। इसी बीच पूजा गर्भवती हो गई। इसे लेकर निखिल और उसके परिजन ने हंगामा खड़ा किया। निखिल ने आरोप लगाया कि वो बच्चा उसका नही है। इस कारण पूजा के चरित्र पर उंगली उठाते हुए डीएनए टेस्ट कराने के लिए दबाव डाला गया, जबकी पूजा बार-बार अपनी सफाई में कहती रही कि बच्चा निखिल का ही है। फिर भी उसकी किसी ने एक न सुनी, आखिरकार 9 जुलाई को परेशान होकर पूजा ने फांसी लगा ली। 

इस ममले को लेकर दोनों पक्षों में आरोप-प्रत्यारोप का दौर चला। इससे कुछ समय के लिए तनाव का बना रहा था। इस बीच गंभीर आरोप को देखते हुए निखिल उसकी मां और बहन के खिलाफ दहेज मामला दर्ज किया गया है। उपनिरीक्षक जायेभाये मामले की जांच कर रही हैं।

कमेंट करें
JgkzE