comScore

मार्च तक पूरा हो यवतमाल जलापूर्ति योजना का काम, 36 गावों में बनेंगे सभागृह

January 08th, 2019 22:10 IST
मार्च तक पूरा हो यवतमाल जलापूर्ति योजना का काम, 36 गावों में बनेंगे सभागृह

डिजिटल डेस्क, मुंबई। यवतमाल शहर के लिए जलापूर्ति योजना को अमृत योजना के तहत पूरा किया जाना है। इसके लिए पाईप लाईन का काम मार्च तक पूरा करने के लिए कार्य की गति बढ़ाने का निर्देश मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने दिया है। यवतमाल जलापूर्ति योजना को अमृत योजना में शामिल करने को मंजूरी दी गई है। इसको लेकर मंगलवार को मुख्यमंत्री ने मंत्रालय में समीक्षा बैठक की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि यवतमाल शहर और पास के आठ गांवों को बेंबला बांध से जलापूर्ति करने के लिए अमृत योजना को मंजूरी दी गई है। फिलहाल 52 फीसदी काम पूरा हुआ है। यवतमाल में सूखे कि स्थिति को देखते हुए यवतमाल शहर को जलापूर्ति के लिए पाईपलाईन का कार्य जल्द से जल्द पूरा किया जाए। यवतमाल के पालकमंत्री मदन येरावार ने कहा कि जलापूर्ति योजना का काम पाईप के अभाव में रुका हुआ है। इस लिए पाईप आपूर्ति करने वाली कंपनी तुरंत आपूर्ति करे। जिससे काम जल्द पूरा हो सके।       
राज्य के 36 गावों में सभागृह बनाने शासनादेश जारी- वित्तमंत्री की थी घोषणा 

राज्य सरकार ने पुण्यश्लोक अहिल्यादेवी होलकर की याद में राज्यस्तर पर 36 गावों में सांस्कृतिक सांस्कृतिक सभा बनाने का फैसला लिया है। वित्तमंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने साल 2018-19 के बजट में इसकी घोषणा की थी। ग्रामीण विकास विभाग ने 7 जनवरी 2019 को शासनादेश जारी कर इसे प्रशासनिक मान्यता दे दी है। एक सभागृह बनाने में 62 लाख 53 हजार 400 रुपए का खर्च अनुमानित है। इसी के मुताबिक 36 सभागृहों के निर्माण के लिए कुल 22 करोड़ 51 लाख 22 हजार 400 रुपए खर्च करने को मंजूरी दी गई है। 
किन जिलों के कौन से गांव में बनेगा सभागृह
वाशिम - सेलु बाजार, धुले जिले का बेहेरगांव फाटा व कुसुंबा
चंद्रपुर - जुनासुर्ला व खेडी
अमरावती- मादन, हिरवा व पुसदा 
भंडारा - चिचाला, जैतपुर, वारव्हा व सिलेगांव
सांगली - आरेवाडी व वालवा 
बुलढाणा - देवधाबा 
हिंगोली - कारवाडी 
परभणी-पिंपलगांव बालापुर, चिंचोली काले, महातपुरी, झरी, कलगांव
औरंगाबाद - आसेगांव
उस्मानाबाद - लोहगड नांद्रा, चोरखडी, यमगरवाडी 
वासिम - ढोरखेडा 
यवतमाल - बेलोरा 
नांदेड - मालेगांव, रिसनगांव, शेलगांव (छत्री), वझरगा 
लातूर - खारवाडी, हणमंत, जवलगा, मादलापुर
अकोला - पुनोकी बु 
वर्धा - नाचणगांव        
 

कमेंट करें
EYyhe