comScore
Dainik Bhaskar Hindi

आपकी पसंदीदा चॉकलेट्स 30 साल बाद नहीं रहेगी

BhaskarHindi.com | Last Modified - February 21st, 2018 21:40 IST

5.3k
0
0

डिजिटल डेस्क,नई दिल्ली। ग्लोबल वार्मिंग के बारे में तो हम सब बहुत बार सुन चुके हैं लेकिन कभी जेहन में ये नहीं  आया था कि इसका असर हमारी फेवरेट चॉकलेट्स पर भी होगा। जी हां, हाल ही में हुई एक रिसर्च से पता चला है कि इस दुनिया में चॉकलेट अब बस कुछ ही बरसों की मेहमान है। या यूं कह लीजिए कि साल 2040 से 2050 के बीच कभी भी चॉकलेट्स दुनिया से खत्म हो जाएगी। 

Image result for cocoa tree

कोको के सारे पेड़ साल 2050 तक खत्म हो सकते हैं 

कोको के पेड़ों से ही हमें स्वादिष्ट चॉकलेट मिलती है। इन पेड़ों को हरा भरा रखने के लिए ज्यादा बारिश की जरूरत पड़ती है। यूएस नेशनल ओशियनिक एंड एटमोस्फियरिक एडमिनिस्ट्रेशन के अनुसार अगले 30
साल में धरती का तापमान 2.1 डिग्री सेल्सियस के ऊपर चला जायेगा। इतना बढ़ा हुआ तापमान कोको के वृक्षों के लिए सही नहीं है। इन पर तापमान बढ़ने का काफी बुरा असर पड़ेगा। 

Related image

कोको के वृक्षों के लिए चाहिए होता है निश्चित तापमान   

कोको के पेड़ उसी इलाके में पनपते हैं जहां पर ज्यादा उमस हो, हवाओं का तेज बहाव न हो और पूरे साल भर तापमान एक स्तर पर रहता हो। भूमध्य रेखा के आस-पास बसे देशों का तापमान इनके लिए परफेक्ट है।  

Related image

इन अफ्रीकी देशों में कोको के पेड़ बहुतायत में होते हैं 

घाना और कोटे डी आइवर ऐसे दो देश हैं जहां इन पेड़ो की उपज सबसे ज्यादा है। दुनिया की आधी से ज्यादा चॉकलेट्स यहीं से बनाई जाती है। अगर यूं ही तापमान का स्तर बढ़ता गया तो आज से 30 साल बाद यहां पर इन पेड़ों का नामो निशान तक नहीं रहेगा। माना तो ये भी जा रहा है कि इनकी खेती के लिए कोई और जगह ढूंढ ली जाए, लेकिन उन जगहों को पहले से ही जंगली जानवरो के लिए संरक्षित कर रखा गया है। 

Image result for scientist

जेनेटिक मॉडिफिकेशन से शायद चॉकलेट्स बच जाए 

आपके मन में जरूर ये बात उठ रही होगी कि अगर आने वाले वक्त में चॉकलेट गायब होने वाली है तो क्यों न हम अभी से इन्हें सहेजकर रख लें। वैसे इसकी कोई जरूरत नहीं है। वैज्ञानिको का कहना है कि वो अभी से ही इसका जेनेटिक मॉडिफिकेशन तैयार कर रहे हैं और इस तकनीक का नाम है "क्रिस्पर"। अगर ये तकनीक काम आ गई तो शायद हम चॉकलेट को बचा सकेंगे।

Image result for chocolates

बदलते माहौल से सिर्फ चॉकलेट्स पर ही खतरा नहीं है

बढ़ते तापमान से होने वाले बदलावों का शिकार सिर्फ चॉकलेट ही नहीं होगी, इसके प्रकोप में कई और भी दूसरी चीजें आएंगी जो आपकी जुबान का स्वाद बढ़ाती हैं। जैसे- कॉफी, एप्पल, आलू और मटर। यही नहीं,कॉफी के लिए भी एक डेडलाइन बता दी गई है और वो है साल 2080.

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download