comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

बिहार: राज्यसभा उपचुनाव के लिए बीजेपी ने सुशील कुमार मोदी को बनाया उम्मीदवार, मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी

बिहार: राज्यसभा उपचुनाव के लिए बीजेपी ने सुशील कुमार मोदी को बनाया उम्मीदवार, मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी

डिजिटल डेस्क, पटना। भारतीय जनता पार्टी (BJP) की केंद्रीय चुनाव समिति ने बिहार में होने वाले आगामी राज्यसभा उपचुनाव-2020 के लिए सुशील कुमार मोदी को उम्मीदवार बनाया है। यह जानकारी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह ने दी। बता दें कि केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन के बाद राज्यसभा की एक सीट खाली है। इस सीट पर 14 दिसंबर को राज्यसभा सीट के लिए चुनाव होना है। 3 दिसंबर से राज्यसभा चुनाव के लिए प्रक्रिया शुरू होगी। वहीं, सुशील मोदी का राज्यसभा में जाना लगभग तय माना जा रहा है। बता दें कि हाल ही में LJP के बिहार चुनाव में अलग लड़ने के बाद BJP ने उसे साइड लाइन कर दिया है। अगर ऐसा नहीं होता तो ये सीट LJP के खाते में जानी चाहिए थी। 

गौरतलब है कि बिहार की राजनीति में सुशील मोदी कई दशकों से सक्रिय हैं। पिछले 15 सालों से वो लगातार बिहार के उपमुख्यमंत्री थे और एमएलसी भी हैं। वहीं, इस बार विधानसभा चुनाव में BJP ने उन्हें उपमुख्यमंत्री नहीं बनाया। मालूम हो कि रामविलास पासवान BJP और JDU के सहयोग से 2019 में निर्विरोध चुने गए थे। इस सीट का कार्यकाल दो अप्रैल 2024 तक है। बिहार से ऊपरी सदन के सदस्य पासवान का इसी 8 अक्टूबर को निधन हो गया था।

BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय मयूख ने शुक्रवार को बताया कि सुशील मोदी ही BJP के कैंडिडेट हैं। इसी सीट के लिए BJP की तरफ से शाहनवाज हुसैन को भी भेजे जाने की चर्चा थी। इसके अलावा वरिष्ठ नेता आरके सिन्हा के बेटे ऋतुराज के नाम की भी चर्चा थी।

नीतीश की पसंद के खिलाफ सुशील मोदी दिल्ली जाएंगे
बिहार चुनाव के नतीजे आने के बाद 15 नवंबर को दोपहर 1 बजे भास्कर ने बता दिया था कि सुशील मोदी से डिप्टी सीएम का पद वापस लिया जाएगा। नीतीश की पसंद के खिलाफ सुशील मोदी को राज्यसभा भेजा जाएगा। सुशील मोदी ने भी एक ट्वीट किया था कि जो जिम्मेदारी मिलेगी, उसे निभाऊंगा। कार्यकर्ता का पद तो वापस नहीं लिया जा सकता है।

1990 में सक्रिय राजनीति में आए
सुशील मोदी 1990 में सक्रिय राजनीति में आए और पटना सेंट्रल विधानसभा सीट से चुने गए। 1995 और 2000 में भी वे विधानसभा पहुंचे। 1996 से 2004 के बीच वे बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रहे। पटना हाई कोर्ट में उन्होंने लालू प्रसाद के खिलाफ जनहित याचिका डाली जिसका खुलासा चर्चित चारा घोटाले के रूप में हुआ था। 2004 में सुशील मोदी ने लोकसभा का चुनाव लड़ा और भागलपुर से विजयी रहे।

सुशील मोदी बीजेपी का सबसे बड़े चेहरा रहे
2005 में बिहार चुनावों में एनडीए को बहुमत मिला। नीतीश कुमार मुख्यमंत्री बने तो सुशील मोदी को उपमुख्यमंत्री की जिम्मेदारी मिली। साथ में वित्त मंत्रालय और कई अन्य विभागों की जिम्मेदारी संभाली थी। 2010 में एनडीए की फिर जीत हुई और नीतीश सरकार में सुशील मोदी फिर उपमुख्यमंत्री बने। वित्त मंत्री के रूप में जुलाई 2011 में सुशील मोदी को GST पर बनी राज्यों के वित्त मंत्रियों की समिति का चेयरमैन बनाया गया था। वहीं, 2020 के चुनाव में भी सुशील मोदी बीजेपी का सबसे बड़े चेहरा रहे। बीजेपी इस बार बड़े भाई की भूमिका है। जेडीयू इस बार 43 सीटों पर जीती है जबकि बीजेपी को 74 सीटें मिली हैं। 

राज्यसभा उप-चुनाव का शेड्यूल

  • नोटिफिकेशन जारी होने की तारीख : 26 नवंबर
  • नामांकन दाखिल करने की अंतिम तारीख : 3 दिसंबर
  • नामांकन पत्रों की जांच की तारीख : 4 दिसंबर
  • नामांकन वापस लेने की अंतिम तारीख : 7 दिसंबर
  • मतदान होगा : 14 दिसंबर को
  • मतदान का समय : सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक
  • मतपत्रों की गिनती होगी : 14 दिसंबर को ही शाम 5 बजे से
कमेंट करें
vZPom