दैनिक भास्कर हिंदी: एलजेपी ने कोरोना के कारण बिहार चुनाव टालने की जताई इच्छा

July 10th, 2020

हाईलाइट

  • एलजेपी ने कोरोना के कारण बिहार चुनाव टालने की जताई इच्छा

नई दिल्ली, 10 जुलाई (आईएएनएस)। बिहार में एनडीए में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। जेडीयू और एलजेपी के बीच कई मुद्दों पर खींचतान जारी है। इस बीच एलजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने कोरोना बीमारी की वजह से बिहार विधानसभा चुनाव टालने की इच्छा जताई है।

चिराग ने ट्वीट कर कहा, कोरोना की वजह से पूरा बिहार ही नहीं, पूरा देश का प्रभावित है। इसकी वजह से आम आदमी के साथ साथ केंद्र और बिहार सरकार का बजट भी प्रभावित हुआ है। ऐसे में चुनाव से प्रदेश पर अतिरिक्त बोझ पड़ेगा। चुनाव आयोग को इस सिलसिले में सोच विचार कर निर्णय लेना चाहिए। ऐसा ना हो कि चुनाव के कारण बड़ी आबादी को झोंक दिया जाए। इससे पोलिंग परसेंटेज पर भी असर पड़ेगा, यह लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं होगा

गौरतलब है कि इससे पहले लोजपा संसदीय बोर्ड ने गुरुवार को एक बैठक कर बिहार विधानसभा चुनाव टालने पर फैसला लिया था। इस आशय का फैसला दिल्ली में पार्टी अध्यक्ष चिराग पासवान के घर चली बैठक में किया गया। एलजेपी का कहना है कि बिहार में अगर इस समय चुनाव कराया जाता है, तो इससे कोरोना संक्रमण की वजह से लोगो के स्वास्थ्य पर खतरा पैदा होगा। इसके साथ ही लोग डर से घरों से कम निकलेंगे लिहाजा मतदान कम होने की आशंका रहेगी। पार्टी का यह भी मानना है कि कोरोना काल में चुनाव कराने पर आर्थिक बोझ भी पड़ेगा।

इधर एलजेपी ने चुनाव टालने के बारे में राय दी है। उधर कुछ इसी तरह की राय एलजेपी की विरोधी आरजेडी पहले ही दे चुकी है। जाहिर है कि एलजेपी का यह कदम जेडीयू और भाजपा को रास नहीं आयेगा। गौरतलब है कि जेडीयू-बीजेपी पहले से ही चुनावी तैयारियों में लगे हुए हैं।

चुनाव टालने के आलाव एलजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक में कॉमन मिनिमम प्रोग्राम को लेकर भी चर्चा की गई। बैठक में इस बात पर जोर दिया गया कि विधानसभा चुनाव में उतरने से पहले एनडीए की तरफ से एक कॉमन मिनिमम प्रोग्राम तय होना चाहिए। चिराग पासवान चाहते हैं कि हर हाल में उनकी तरफ से उठाए गए उन मुद्दों को भी शामिल किया जाए जो उन्होंने बिहार फस्र्ट बिहारी फस्र्ट यात्रा के दौरान उठाए थे।

खबरें और भी हैं...