दैनिक भास्कर हिंदी: तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव से पहले शशिकला का राजनीति से संन्यास, बोलीं- कभी सत्ता या पद नहीं चाहा

March 3rd, 2021

डिजिटल डेस्क, चेन्नई। तमिलनाडु की मुख्यमंत्री रहीं जयललिता की करीबी सहयोगी वीके शशिकला ने बुधवार को राजनीति से सन्यास का ऐलान किया। संन्यास लेने के ऐलान के बाद शशिकला ने कहा कि उन्होंने कभी सत्ता या पद नहीं चाहा है। वह हमेशा लोगों की भलाई के लिए काम करेंगी और अम्मा (जयललिता) के बताए मार्ग पर चलेंगी। शशिकला ने आगामी विधानसभा चुनावों में डीएमके को हराने के लिए एआईएडीएमके वर्कर्स को एकजुट रहने के लिए कहा। 

क्या कहा शशिकला ने:

  • शशिकला ने लिखा- राजनीति छोड़ रही हूं, लेकिन मैं हमेशा भगवान से प्रार्थना करूंगी कि अम्मा का स्वर्णिम शासन आए और विरासत आगे बढ़े। 
  • ये मानते हुए कि हम एक ही मां की संतान हैं, सभी समर्थकों को आगामी चुनावों में एक साथ काम करना चाहिए।
  • सभी को DMK के खिलाफ लड़ना चाहिए और अम्मा सरकार बनाना चाहिए। सभी को मेरा शुक्रिया।

चार साल जेल में रहीं शशिकला

  • शशिकला का नाम भ्रष्टाचार के केस में आने के बाद AIADMK ने उन्हें पार्टी से निकाल दिया था।
  • चार साल की जेल की सजा काटने के बाद 8 फरवरी को शशिकला रिहा हुई। 
  • वह आय से अधिक संपत्ति के मामले में जेल की सजा काट रहीं थीं।
  • बेंगलूरु से चेन्नई पहुंचने पर उनका भव्य स्वागत किया गया।
  • तमिलनाडु में शशिकला की वापसी के बाद से एआईएडीएमके में सियासी हलचल तेज थी। 
  • मीडिया से बातचीत में भी शशिकला ने कहा था कि वे जल्द चुनावी मैदान में उतरेंगी।
  • शशिकला और उनके भतीजे AMMK सचिव टीटीवी दिनाकरन ने मीडिया और समर्थकों से चेन्नई में मुलाकात की थी। 
  • AIADMK से निष्कासित किए जाने के बाद शशिकला के भतीजे दिनाकरन ने अम्मा मक्कल मुन्नेत्र कषघम (AMMK) की स्थापना की थी।
     

खबरें और भी हैं...