comScore
Dainik Bhaskar Hindi
राशिफल
mesh
vishbh
mithun
karak
singh
kanya
tulaa
vishchk
dhanush
makar
kumbh
meen

Mesh 2018

वर्ष के प्रारंभ में पारिवारिक जीवन में कुछ समस्याएं आने वाली हैं। इसका मुख्य कारण है सप्तम भाव, जो कि पत्नी का भाव है उसमें मंगल ग्रह स्थित होगा। अतः आपके पारिवारिक जीवन में परेशानी बनी रहेगी। परन्तु यह स्थिति ज्यादा दिन तक नहीं रहेगी। गुरु के सप्तम भाव में होने से सभी समस्या स्वतः ही समाप्त हो जाएंगी। अतः घबराने की विशेष आवश्यकता नहीं है। इसलिए सभी रिश्तों में श्रद्धा, विश्वास तथा मेलजोल बनाए रखें, अन्यथा रिश्तों में खटास आएगी। क्रोध तथा अविश्वास के कारण आपके पारिवारिक जीवन में मनमुटाव हो सकता है अतः गुस्सा और अविश्वास को बीच में न आने दें रिश्तों को सभी की दृष्टि से समझने की कोशिश करें तभी कोई फैसला लें। धैर्य बनाए रखें अचानक अथवा रिएक्शन में कोई फैसला न लें सब कुछ अनुकूल होगा। माता से संबंध बनाकर रखें। आप अपने अंतर्मन की बात माता के साथ शेयर भी कर सकते हैं। पिता के साथ विचारों की लड़ाई हो सकती है। अतः सावधान रहें और वाद-विवाद से यथा संभव बचें। संतान पक्ष को लेकर चिंता बनी रहेगी। 

आपके पंचम भाव पर किसी भी अशुभ ग्रह की दृष्टि नहीं है जो प्रेम सम्बन्ध के लिए अच्छा है और आपको इस समय का आनंद लेना चाहिए। यह समय रोमांस से भरा होगा। नवंबर तथा दिसंबर में प्रेम संबंध में कड़वाहट शुरू होगी तथा प्रेम टूट भी सकता है। सामाजिक तथा पारिवारिक मान-मर्यादा को ध्यान में रखकर ही कोई कदम उठाएं नहीं तो इसका खामियाजा आपको भुगतना पड़ सकता है। वैसे रिश्ते को बनाए रखने में विश्वास करें तो अच्छा रहेगा। छोटी -छोटी बातों को अन्यथा न लें नहीं तो नुकसान हो सकता है। 

स्वास्थ्य की दृष्टि से यह वर्ष सामान्य रहेगा। मन से भले ही बीमार हो सकते हैं इसलिए ज्यादा चिंता करने की कोई आवश्यकता नहीं है। देखा जाए तो पेट-संबंधी कुछ समस्या हो सकती है। जोड़ों में दर्द की शिकायत हो सकती है। यौन समस्या, जोड़ों में दर्द तथा शरीर के निचले हिस्सों में भी कुछ दिक़्क़तें हो सकती हैं। मौसम परिवर्तन होने पर स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां हो सकती हैं। वर्ष के दूसरे चरण यानि सितंबर मास के बाद से आपको सेहत के प्रति ज़्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है, वरना अस्पताल जाने की भी नौबत आ सकती है। 

इस वर्ष दसवें तथा ग्यारहवें भाव का स्वामी शनि, नवम स्थान में बैठा है यह स्थान भाग्य भाव है। ऐसी स्थिति में आपका प्रमोशन हो सकता है। अपने कर्त्तव्य का पालन निष्ठापूर्वक करें मंजिल अपने आप मिल जाएगा। अक्टूबर में गुरु का वृश्चिक राशि में प्रवेश होने पर उनकी दृष्टि बारहवें पर होगी तो स्थिति में परिवर्तन से लाभ होगा।

व्यवसाय की दृष्टिकोण से अच्छा फल मिलने वाला है। कोई गलत काम न करें और न ही किसी दूसरे के काम में दखल दें नुकसान दे सकता है। अक्टूबर से पहले कोई नया कार्य भी प्रारम्भ हो सकता है। आपको जो भी मिलना है अवश्य मिलेगा हां अपना प्रयास निरंतर बनाए रखें। अक्टूबर से कारोबार में ज्यादा सावधानी बरतने की जरुरत है।धन-संपत्ति के मामले में यह वर्ष अच्छा रहेगा। निवेश से पहले विशेषज्ञ से सलाह लेकर निवेश करें। शेयर का काम विशेष फायदेमंद नहीं होगा यानि फायदा और नुकसान करीब-करीब बराबर। बड़े ही सोच समझकर खर्च करें फिजूल खर्च हो सकते हैं अतः बचें। धन-संपत्ति के मामले में यह वर्ष अच्छा रहेगा।