comScore

 सभी स्कूलों में अंतरराष्ट्रीय स्तर की शिक्षा देने बनेगी सलाहकार समिति

 सभी स्कूलों में अंतरराष्ट्रीय स्तर की शिक्षा देने बनेगी सलाहकार समिति

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश की ठाकरे सरकार ने फडणवीस सरकार के समय शुरू किए गए महाराष्ट्र अंतरराष्ट्रीय शिक्षा मंडल (एमआईईबी) को रद्द करके राज्य अंतरराष्ट्रीय सलाहकार समिति गठित करने का फैसला किया है। सरकार ने केंद्र सरकार की नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति का विचार करते हुए माध्यमिक व उच्च माध्यमिक शिक्षा मंडल के अंतर्गत महाराष्ट्र के सभी स्कूलों के विद्यार्थियों को अंतरराष्ट्रीय दर्जे की शिक्षा देने के लिए राज्य अंतरराष्ट्रीय सलाहकार समिति का गठन किया है।  इस समिति की अध्यक्ष प्रदेश की स्कूली शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड होंगी। सोमवार को सरकार के शिक्षा विभाग ने समिति गठन करने के संबंध में शासनादेश जारी किया। इसके अनुसार राज्य अंतरराष्ट्रीय सलाहकार समिति का कार्यकाल तीन साल का होगा।

समिति की बैठक आवश्यकता के अनुसार बुलाई जाएगी। मुंबई स्थित एस. एल. एन ग्लोबल नेटवर्क के संस्थापक फ्रान्सिस जोसेफ समिति के समन्वयक होंगे।राज्य अंतरराष्ट्रीय सलाहकार समिति के मार्गदर्शन में पुणे के बालभारती व राज्य शैक्षणिक संशोधन व प्रशिक्षण परिषद की ओर से तैयार किए गए पाठ्यपुस्तकों और महाराष्ट्र अंतरराष्ट्रीय शिक्षा मंडल द्वारा तैयार किए गए पाठ्यपुस्तकों का तुलनात्मक अध्ययन होगा।

इसके बाद महाराष्ट्र अंतरराष्ट्रीय शिक्षा मंडल की ओर से चुने गए 81 स्कूलों में कक्षा पहली से पाचंवी तक प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों को अंतरराष्ट्रीय दर्ज का संशोधित पाठ्यक्रम और पाठ्यपुस्तकें उपलब्ध कराया जाएगा। संशोधित पाठ्यक्रम और पाठ्यपुस्तकें शिक्षा क्षेत्र के विशेषज्ञों के माध्यम से तैयार किया जाएगा। इसके लिए राज्य स्तरीय पाठ्यक्रम निर्माण समिति गठित की गई है। इस समिति के अध्यक्ष राज्य शैक्षिणक संशोधन व प्रशिक्षण परिषद के निदेशक होंगे। सात सदस्यों वाली समिति को नए शैक्षणिक वर्ष शुरू होने से पहले पाठ्यपुस्तक उपलब्ध कराने की व्यवस्था करनी होगी।

कमेंट करें
bGBZ1