comScore

अमरावती : दूषित पानी से आधा गांव डायरिया की चपेट में

अमरावती : दूषित पानी से आधा गांव डायरिया की चपेट में

डिजिटल डेस्क, धामणगांव रेलवे(अमरावती) । धामणगांव तहसील अंतर्गत शिदोडी गांव में पिछले 15  दिन से हो रही दूषित जलापूर्ति के कारण आधा गांव डायरिया का शिकार हो गया है। दो दिन पूर्व लोगों में लक्षण दिखाई देने पर यह बात सामने आयी। मंगलवार को स्वास्थ्य टीम शिदोडी गांव पहुंची। लेकिन इस पर नियंत्रण पाने स्वास्थ्य टीम के प्रयास भी विफल होते नजर आ रहे हंै। गांव के 70  लोगों की हालत चिंताजनक बताई जा रही है, इनमें महिला, पुरुष और बच्चे शामिल हैं।

तहसील का शिदोडी गांव लगभग 650  आबादीवाला पुनवर्सित गांव है। इस गांव को दो कुओंं से जलापूर्ति की जाती है, जिसमें से एक कुआं नाले के किनारे है। विगत 15  दिन से इसी कुएं से जलापूर्ति की जा रही है। ग्राम पंचायत का कार्यकाल समाप्त होने के बाद इस गांव में एक प्रशासक की नियुक्ति की गई। इस कुएं में ब्लिचिंग पाउडर डाले नहीं जाने से ग्रामवासियों को दूषित पानी पीना पड़ रहा है। इस कारण   उल्टी और दस्त की शिकायत यहां के लोगों को होने से स्थिति नियंत्रण में नहीं आ रही। मरीजों की हालत चिंताजनक हो रही है। इनमें बच्चों का प्रमाण अधिक है। जिला स्वास्थ्य अधिकारी, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, तहसील स्वास्थ्य दल ने मंगलवार को गांव का सर्वे किया। ग्रामवासियों का उनके घर पर ही इलाज किया जा रहा है। वहीं कुछ मरीजों पर ग्राम पंचायत परिसर में ही अस्पताल स्थापित कर उपचार किया जा रहा है। पिछले दो दिन से यह बीमारी नियंत्रण में नहीं आने से स्वास्थ्य विभाग भी चिंतित है।

दवा का पर्याप्त स्टॉक उपलब्ध
दवा का पर्याप्त स्टॉक  उपलब्ध है। दूषित पानी से डायरिया की शिकायत यहां के लोगों को हुई है। स्थिति नियंत्रण में लाने का प्रयास शुरू है।  हर्षल क्षीरसागर, तहसील स्वास्थ्य अधिकारी

नालियों की सफाई
गांव के नालियों की सफाई की गई है और गांव में ब्लिचिंग पाउडर का भी छिड़काव किया जा रहा है। - प्रवीण राठोड़, प्रशासक, शिदोडी

कमेंट करें
xnKOU