comScore

शादियों में बज सकेंगे बैंड-बाजे, संख्या 10 से ज्यादा नहीं होगी

शादियों में बज सकेंगे बैंड-बाजे, संख्या 10 से ज्यादा नहीं होगी

डिजिटल डेस्क, नागपुर। लॉकडाउन के कारण अन्य कारोबार की तरह ही बैंड वालों का व्यवसाय ठप होकर रह गया है। तमाम औपचारिकताओं के कारण इस समय शादियां भी कम ही हो रही हैं। जो हो भी रही हैं, उसमें बैंडवालों को नहीं बुलाया जा रहा है। इससे परेशान नागपुर बैंड एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने पुलिस आयुक्त डॉ. भूषण कुमार उपाध्याय से मुलाकात की। उन्होंने बैंड वालों को शादियों में शामिल होने की अनुमति देने की गुहार लगाई। काफी विचार के बाद पुलिस आयुक्त ने हामी भर दी है। अब बैंड-बाजे के साथ शादी समारोह हो सकेंगे। शर्त बस इतनी है कि बैंड वालों की संख्या 10 से अधिक नहीं होगी। समारोह में लोगों की संख्या 50 से अधिक नहीं होनी चाहिए। इन 50 लोगों में बैंडवालों की संख्या भी शामिल होगी। यानी 40 शादी समारोह वाले और 10 बैंड वाले रहेंगे। शेष सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाने जैसे नियमों का पालन करना भी अनिवार्य होगा।

2500 से ज्यादा परिवार संकट में
लॉकडाउन में बैंड वालों का व्यवसाय बंद होने से सीधे तौर पर 2500 से ज्यादा परिवार प्रभावित हुए हैं। पिछले कई माह से ये लोग बेरोजगार हैं। इन परिवारों के सामने रोजी-रोटी का संकट है। ऐसे में इनकी मांग को देखते हुए पुलिस आयुक्त ने शादियों में सशर्त बैंड-बाजे की अनुमति दी है।

नियमों का रखना होगा ख्याल
बारात में अगर 10 मेहमानों को कम बुलाने से बैंड वालों का संकट कम हो सकता है तो इससे अच्छा क्या होगा। इनकी उपस्थिति से बारात की रौनक भी बढ़ जाती है। बैंड वालों को भी नियमों का ख्याल रखना होगा। बैंडवालों की संख्या मिलाकर शादी समारोह में कुल 50 लोग ही शामिल होंगे।
-डॉ. भूषण कुमार उपाध्याय, पुलिस आयुक्त, नागपुर शहर
 

कमेंट करें
LPMej