दैनिक भास्कर हिंदी: एस्सेल ग्रुप को गोरेवाड़ा में दी गई जमीन की होगी जांच

June 23rd, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर ।  मनपा द्वारा गोरेवाड़ा में एस्सेल ग्रुप को व्यावसायिक गतिविधियों के लिए मुफ्त दी गई 65 एकड़ जमीन की मनपा आयुक्त तुकाराम मुंढे को जांच करने के निर्देश दिए गए हैं। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष वेदप्रकाश आर्य ने इस संबंध में गृहमंत्री अनिल देशमुख से लिखित शिकायत की है। शिकायत पर संज्ञान लेकर गृहमंत्री देशमुख ने आयुक्त श्री मुंढे को मामले की जांच करने को कहा है। जांच का निर्देश देने से अनेक लोगों में हड़कंप मच गया है।

शिकायत में वेदप्रकाश आर्य ने आरोप लगाया कि, मनपा ने गोरेवाड़ा में 65 एकड़ गैर-वनभूमि एस्सेल ग्रुप को व्यावसायिक गतिविधि के लिए उपलब्ध कराई है। एस्सेल ग्रुप द्वारा वहां कमर्शियल कॉम्प्लेक्स सहित अन्य मनोरंजन के साधन उपलब्ध कराए जाएंगे। आर्य का आरोप है कि, अगर व्यावसायिक गतिविधियों के लिए यह जमीन दी गई है, तो नि:शुल्क क्यों?, उसका पैसा लिया जाना चाहिए। गृहमंत्री अनिल देशमुख से उन्होंने इसकी उच्च स्तरीय जांच करने की मांग की है। गृहमंत्री ने यह शिकायत पत्र आयुक्त को भेजकर मामले की जांच करने को कहा है। सोमवार को ही यह पत्र आयुक्त कार्यालय में पहुंचा है। 

नारा की जमीन भी जांच के दायरे में
पत्र में मौजा नारा में 130 एकड़ जमीन का आरक्षण बदलने का भी आरोप लगाया गया है। आरोप है कि, शहर विकास योजना अंतर्गत मौजा नारा में पिछड़ावर्ग समाज के लिए शारीरिक, सामाजिक और आर्थिक विकास के लिए 130 एकड़ जमीन आरक्षित की गई है। इसे 40 साल से अधिक समय हो गया है। 2003 में एनआईटी में ईओआई भी हो चुका है, लेकिन कुछ बड़े लोग इस आरक्षण को बदलने के लिए कोशिश कर रहे हैं। शिकायत में इसमें बड़े भ्रष्टाचार का आरोप लगाया गया है। गृहमंत्री ने इस शिकायत को भी जांच के दायरे में रखने को कहा है। फिलहाल इस मामले में मनपा आयुक्त तुकाराम मुंढे से संपर्क करने की कोशिश की गई, लेकिन कोई प्रतिसाद नहीं मिला।

 

 

खबरें और भी हैं...