comScore

पुलिस कर्मचारियों के लिए स्वतंत्र कोविड-19 अस्पताल शुरू

पुलिस कर्मचारियों के लिए स्वतंत्र कोविड-19 अस्पताल शुरू

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  कोरोना संक्रमण काल में डॉक्टर्स, नर्स और वैद्यकीय क्षेत्र के कर्मचारियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर पुलिस महकमा भी कार्य कर रहा है। कोरोना की इस लड़ाई के दौरान अनेक पुलिस कर्मचारी भी संक्रमित हुए। पुलिसकर्मियों के स्वास्थ्य के लिए हमें सक्षम बनना होगा। यह बात गृहमंत्री अनिल देशमुख ने सोमवार को नागपुर में पुलिस कोविड अस्पताल के उद्धाटन अवसर पर कही। गृहमंत्री देशमुख की उपस्थिति में पालकमंत्री डॉ. नितीन राऊत के हाथों स्वतंत्र पुलिस कोविड अस्पताल का   ‘ऑनलाइन’ उद्घाटन किया गया। 

20 हजार पुलिस अधिकारी - कर्मचारी कोरोना बाधित
 पुलिस महानिदेशक सुबोधकुमार जयस्वाल ने कहा कि राज्य पुलिस दल विभाग में  20 हजार पुलिस अधिकारी - कर्मचारी कोरोना बाधित हैं। 217 अधिकारी- कर्मचारियों की मौत हो चुकी है। पुलिस के लिए स्वतंत्र कोविड अस्पताल की मांग पुलिस  आयुक्त अमितेश कुमार ने की थी। पालकमंत्री नितीन राऊत ने तत्काल इसके लिए निधि उपलब्ध कराई। आठ दिनों में पुलिस आयुक्त अमितेशकुमार, प्रभारी सह आयुक्त डॉ. नीलेश भरणे के मार्गदर्शन में 16 बेड का कोविड अस्पताल तैयार किया गया। उन्होंने इसी तर्ज पर संपूर्ण जिले के मुख्यालय में पुलिस के लिए स्वतंत्र कोविड अस्पताल का निर्माण करने के निर्देश दिए।

आठ दिन में अस्पताल तैयार
इस अवसर पर डॉ. नितीन राऊत ने कहा कि कोरोना योद्धाओं का बीमार होना चिंता का विषय है। इसे देखते हुए इस अस्पताल के लिए 50 लाख की तत्काल निधि दी गई। आठ दिनों के अंदर सर्व सुविधायुक्त अस्पताल तैयार किया गया। पुलिस को जरूरी हर सुविधा उपलब्ध कराने का आश्वासन डा. राऊत ने दिया। 

चार एम्बुलेंस, चार डॉक्टर और 16 नर्स
 पुलिस महानिदेशक सुबोधकुमार जयस्वाल ने कहा कि सभी के सहयोग से कम समय में यह अस्पताल तैयार करने में मदद मिली। शहर के निजी अस्पतालों में समय पर पुलिस को बेड नहीं मिल पा रहे थे। इसके कारण पुलिस के लिए स्वतंत्र कोविड अस्पताल बनाया गया। इस अस्पताल में सुसज्जित चार एम्बुलेंस, चार डॉक्टर और 16 नर्स हैं। पुलिस  आयुक्त अमितेशकुमार ने प्रस्ताविक में कहा कि उनका प्रयास है कि पुलिस और उनके परिवार को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मिल सके। संचालन पुलिस उपायुक्त राहुल माकणीकर ने किया। आभार उपायुक्त गजानन राजमाने ने माना। 

रिश्तेदारों से भी कर सकेंगे सीधी बात 
नागपुर पुलिस कोविड अस्पताल में भर्ती मरीज अपने परिजनों से बाहर बने स्वागत कक्ष में बैठकर उनसे माइक पर उनकी सेहत के बारे में पूछताछ कर सकेंगे। यह आधुनिक सुविधा मरीजों के साथ उनके परिजनों को राहत देने वाली है। बेड पर भर्ती मरीज अपने परिजन से माइक पर अपनी सेहत और हालत की जानकारी दे सकेगा। अस्पताल में 16 बेड का इंतजाम है, जिसमें 8 बेड मॉनिटर व आक्सीजन के साथ तैयार किया गया है। मंगलवार से यहां पर भर्ती प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। मरीजों को नि:शुल्क भोजन, दवा और नाश्ता दिया जाएगा। यह अस्पताल डा संदीप शिंदे की देखरेख में चलेगा। 

कमेंट करें
Bjqan