दैनिक भास्कर हिंदी: लड़ाई कोरोना से है या मोदी सेः फडणवीस

March 31st, 2020

डिजिटल डेस्क, मुंबई। भाजपा के विधायकों और सांसदों का मानधन पार्टी के आपदा कोष में जमा कराने के फैसले की आलोचना करने वाली शिवसेना पर विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने निशाना साधा है। फडणवीस ने कहा कि कुछ लोग अब भी बिना कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर टिप्पणी कर रहे हैं। उन्हें अभी तक यह समझ नहीं आ रहा है उनकी लड़ाई भाजपा से या फिर कोरोना वायरस से है।
फडणवीस का इशारा शिवसेना के सांसद संजय राऊत की ओर था।

मंगलवार को एक कार्यक्रम फडणवीस ने कहा कि शिवसेना जब भाजपा के साथ सरकार में थी तब शिवसेना के सभी विधायकों और सांसदों ने बाढ़ प्रभावितों की मदद के लिए मुख्यमंत्री सहायता निधि की बजाय अपना वेतन शिवसेना के राहत कोष में जमा किया था। भाजपा सरकार ने जलयुक्त शिवार योजना शुरू की थी। उस समय शिवसेना ने पार्टी स्तर पर शिवजलक्रांति योजना शुरू किया था। इसके लिए पार्टी ने अलग से निधि जुटाई थी। उस समय भाजपा ने शिवसेना का कभी विरोध नहीं किया था। फडणवीस ने कहा कि भाजपा ने कोरोना आपदा कोष तैयार किया है। पार्टी ने 52 लाख जरूरतमंदों तक मदद पहुंचने का लक्ष्य रखा है। इस काम के लिए पार्टी को संसाधन की भी जरूरत पड़ेगी। इसलिए पार्टी के विधायकों और सांसदों के एक महीने के वेतन को भाजपा राहत कोष में जमा कराने का फैसला लिया गया है। 

फडणवीस ने कहा कि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए राज्य सरकार तिजोरी की ओर न देखें। उन्होंने कहा कि सरकार को और साहसिक फैसला लेना चाहिए। अगर सरकार की तिजोरी पर थोड़ा भार पड़ेगा तो भी चल जाएगा। सरकार की आर्थिक स्थिति बाद में बेहतर हो सकती है। फडणवीस ने कहा कि राज्य में केवल कोरोना वायरस को रोकने के लिए प्रतिबंधात्मक उपाय करने से काम नहीं चलेगा। राज्य सरकार को लोगों की मदद भी करनी होगी। फडणवीस ने कहा कि राज्य सरकार के पास इमारत निर्माण के मजदूरों के लिए चुंगी के तौर पर जुटाया लगभग साढ़े चार करोड़ रुपए का फंड है। सरकार को मजदूरों को इस धनराशि में से निधि देना चाहिए। अगर मजदूरों को आर्थिक मदद नहीं मिली तो वे पलायन करेंगे। इससे कोरोना वायरस के प्रसार का और भी खतरा बढ़ सकता है। फडणवीस ने कहा कि कोरोना वायरस जैसी आपदा के वक्त भाजपा विधायक निरंजन डावखरे और प्रदेश भाजपा प्रवक्ता अवधूत वाघ का विवादित ट्वीट करना गलत है। इसके लिए दोनों नेताओं को समझा दिया गया है। लेकिन दूसरे दलों के नेताओं और पदाधिकारियों को भी समझदारी दिखानी चाहिए। 

नड्डा ने की समीक्षा 
भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा ने मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से महाराष्ट्र भाजपा के नेताओं से संवाद साधा। नड्डा ने राज्य की स्थिति और पार्टी की ओर से चलाए जा रहे सेवा कार्य की समीक्षा की। इस दौरान फडणवीस ने कहा कि कोरोना वायरस का इलाज करने वाले डॉक्टरों के अलावा अन्य डॉक्टरों को भी तत्काल सेफ्टिकिट उपलब्ध कराने की आवश्यक है। 
 

खबरें और भी हैं...