comScore

कोरबा : कोरबा के कोविड अस्पताल में भर्ती हुए 283 संक्रमित, 234 डिस्चार्ज

July 24th, 2020 15:21 IST
कोरबा : कोरबा के कोविड अस्पताल में भर्ती हुए 283 संक्रमित, 234 डिस्चार्ज

डिजिटल डेस्क, कोरबा 22 जुलाई 2020 कोरोना संक्रमितो के ईलाज के लिए बनाए गए विशेष कोविड अस्पताल में अभी तक 234 मरीजो का ईलाज सफलता पूर्वक किया जा चुका है। कोरबा के कोविड अस्पताल में अभी तक 283 कोरोना पाॅजिटिव मरीजो को ईलाज के लिए भर्ती कराया जा चुका है। भर्ती हुए कोरोना संक्रमितो में से किसी की भी मौत नही हुई है, 234 मरीज ईलाज के बाद स्वस्थ होकर अपने-अपने घर लौट गए है। कोरबा के डिंगापुर स्थित ईएसआईसी अस्पताल को कोविड मरीजो के ईलाज के लिए तैयार किया गया है। अस्पताल की स्थापना के बाद से अब-तक छह जिलो के कोरोना संक्रमित 196 पुरूष और 87 महिला मरीज भर्ती हुए है। पांच मरीजो को उनकी उम्र और अन्य एमरजेंसी के कारण बड़े अस्पतालो के लिए रेफर भी किया गया है। कोरबा के इस अस्पताल मे कोरबा जिले ही नही बल्कि जांजगीर-चांपा, जशपुर, कोरिया, रायगढ़ और गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले के कोरोना संक्रमितो का भी ईलाज किया गया है। वर्तमान मे अस्पताल मे ईलाज के लिए 44 मरीज भर्ती है।इस अस्पताल में कोरबा जिले के 213, जांजगीर-चांपा जिले के 13, जशपुर नगर जिले के 37, कोरिया और रायगढ़ जिले के 2-2 तथा गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले के 16 मरीजो का ईलाज किया गया है। जिसमें से अभी केवल कोरबा जिले के 28 और गौरेला पेंड्रा-मरवाही जिले के 16 मरीजो का ईलाज जारी है, बाकी मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट चुके है। कोरबा के ईएसआईसी अस्पताल में स्थापित डेडीकेटेड कोरोना हास्पिटल में सीएमएचओ डाॅ. बी.बी.बोर्डे, अस्पताल इंचार्ज डा. प्रिंस जैन सहित लगभग 20 मेडिकल स्टाफ की टीम दिन-रात संक्रमितों के ईलाज में लगी है। 142 बिस्तर के इस विशेष कोविड अस्पताल में ईलाज के दौरान कोरोना की रोकथाम और ईलाज के लिए शासन द्वारा जारी किये गये प्रोटोकाल का सख्ती से पालन किया जा रहा है। कोरोना संक्रमितों के ईलाज के लिए क्रमबद्ध तरीके से डाक्टरों और मेडिकल स्टाफ की ड्यूटी कोविड अस्पताल में लगाई गई है। कोविड प्रोटोकाल के अनुसार ही ईलाज के दौरान इंफेक्शन से बचने और ईलाज के बाद डाक्टरों और मेडिकल स्टाफ के डोफिंग के लिए विशेष व्यवस्थाएं की गई है। कोविड प्रोटोकाल के अनुसार 14 दिन ड्यूटी करने वाले डाक्टरों और मेडिकल स्टाफ को अगले 14 दिनों तक क्वारेंटाइन में रहना होता है। इस दौरान इन सभी की कोरोना जांच भी की जाती है। पूरी सावधानी और सुविधाओं के कारण ही कोरबा के इस अस्पताल में मरीजों के ईलाज में लगे किसी भी डाक्टर, नर्स, लैब टेक्निशियन या अस्पताल के सफाई कर्मी तक में कोई संक्रमण नहीं हुआ है। कोविड अस्पताल में काम करने वाले किसी भी मेडिकल स्टाफ की आज तक कोरोना की कोई रिपोर्ट पाजिटिव नहीं आई है। सभी मेडिकल स्टाफ कोरोना नेगेटिव पाये गये हैं। अस्पताल प्रबंधन के लिए जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री पद्माकर शिंदे और अस्पताल कंसलटेंट डा. देवेन्द्र गुर्जर तथा उनकी टीम लगातार ईलाज के लिए जरूरी सुविधाओं और दवाइयों आदि के इंतजाम में लगी है। इस अस्पताल में कोरोना से ग्रसित मरीजों के ईलाज के लिए अलग-अलग कमरों वाले वार्डों के साथ-साथ गंभीर मरीजों के लिए आक्सीजन एवं वेंटिलेटर की सुविधायुक्त वार्डों की व्यवस्था भी है। इस अस्पताल में सभी जरूरी दवाईंयां, पीपीई किट, मास्क, सेनेटाईजर आदि की पर्याप्त संख्या में पहले से ही व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। ईलाज के दौरान निकलने वाले संवेदनशील संक्रमित मेडिकल वेस्ट के उचित निपटान के लिए अलग-अलग डस्टबीन भी पूरी सावधानी के साथ रखे गये हैं। प्रतिदिन मेडिकल वेस्ट को अस्पताल से हटाने के लिए विशेष वाहन की भी व्यवस्था की गई है। दवाओं के वितरण के लिए एक फार्मासिस्ट भी यहां उपलब्ध है। क्रमांक 340/नागेश/

कमेंट करें
KgANI