दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर से तुकाराम मुंढे के तबादले के विरोध में प्रदर्शन

August 28th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  निवर्तमान मनपा आयुक्त तुकाराम मुंढे का अचानक मुंबई तबादला होने के बाद आम नागरिकों से लेकर राजनीतिक और सामाजिक संगठनों में नाराजगी व्याप्त है। इसे लेकर सोशल मीडिया पर नागरिकों ने अपनी भड़ास निकाली। भाजपा और कांग्रेस की दुकानें बंद होने से तुकाराम मुंढे का अचानक तबादला किए जाने का आरोप भी लगाया जा रहा है। इस बीच कुछ राजनीतिक संगठनों ने तुकाराम मुंढे के समर्थन में आगे आकर सरकार से उनका तबादला तुरंत रद्द करने की मांग की है। शिवसेना प्रणित युवा सेना ने आयुक्त मुंढे के समर्थन में राज्य के अपर मुख्य सचिव सीताराम कुंटे को डाक से पत्र भेजकर तबादला तुरंत रद्द करने की मांग की। युवा सेना के उत्तर नागपुर विधानसभा संगठक गणेश सोलंकी ने पत्र में कहा कि, तुकाराम मुंढे ने नागपुर मनपा में बड़े पैमाने पर चल रहे भ्रष्टाचार पर रोक लगाई थी। पहले नालों की सफाई पर करोड़ों खर्च होते थे, उसे आधे खर्च में पूरा किया। कोविड 19 की रोकथाम के लिए जम्बो हॉस्पिटल कम समय में तैयार किया। मुंढे नहीं होते तो कोरोना संक्रमण की स्थिति और भयावह होती, इसलिए तुरंत तबादला रद्द करें। तबादला रद्द नहीं किया गया तो तीव्र आंदोलन किया जाएगा। जीपीओ में इस पत्र को डाक पेटी में डाला गया। इस अवसर पर एड. िनतीन रुडे, एड. महेश राठोड़, एड. अनिल कावरे, लेखांक टेंभूर्णे, प्रतीक आदि उपस्थित थे। 

वहीं गुरुवार को आम आदमी पार्टी ने संविधान चौक पर मनपा आयुक्त के समर्थन और तबादले के विरोध में आंदोलन किया। साथ ही मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को निवेदन भेजकर मनपा में सत्तापक्ष और विपक्ष किस प्रकार षड़यंत्र रचकर उन्हें परेशान कर रहे थे, इससे अवगत कराया गया। आयुक्त मुंढे प्रामाणिक व कर्तव्यनिष्ठ अधिकारी हैं। उनके नेतृत्व में कोरोना पर काफी हद तक नियंत्रण पाया गया। सही मायने में नागपुर को स्मार्ट सिटी बनाने उनके जैसे अधिकारी की जरूरत है। आप ने चेतावनी दी कि, मुंढे का तबादला रद्द नहीं किया गया तो सड़क पर उतरकर जन आंदोलन किया जाएगा। आंदोलन में विदर्भ व राज्य समिति सदस्य संयोजक देवेंद्र वानखेड़े, जगजीत सिंह, राज्य सहसचिव अशोक मिश्रा, नागपुर सचिव भूषण ढाकुलकर, नागपुर संगठन मंत्री शंकर इंगोले व नीलेश गोयल आदि उपस्थित थे।