comScore

लैबोरेट्री में कर्मचारियों की कमी जल्द होगी दूर

लैबोरेट्री में कर्मचारियों की कमी जल्द होगी दूर

 डिजिटल डेस्क, नागपुर। फूड एंड ड्रग्स विभाग नागपुर में लैबोरेट्री में कर्मचारियों की कमी जल्द पूरी होने वाली है। राज्य स्तर पर विभाग में नई भर्तियां की जाएंगी। इस संबंध में प्रस्ताव तैयार है। प्रस्ताव की मंजूरी के लिए उच्च स्तरीय सचिव समिति की मंजूरी लेने की प्रक्रिया चल रही है। अन्न व औषधि प्रशासन विभाग के मंत्री राजेंद्र शिंगणे ने विधानपरिषद में जानकारी दी है। विधानपरिषद सदस्य प्रा.अनिल सोले ने यह मामला प्रमुखता से उठाया था।

विप सदस्य नागो गाणार, गिरीश व्यास, परिणय फुके व अन्य ने भी अन्न व औषधि विभाग के मामले में समस्याएं रखीं। नागपुर में फूड एंड ड्रग्स विभाग की लैबोरेट्री में कर्मचारी नहीं होने के प्रश्न पर मंत्री शिंगणे ने बताया कि इस लैबोरेट्री को अप्रैल 2015 में सरकार ने मंजूरी दी थी, लेकिन इस लैबोरेट्री के लिए नए पदों के योजना प्रारूप को मंजूरी नहीं मिली। मंजूरी की कार्यवाही को विलंब हुआ। 

लिहाजा, सितंबर 2017 में सरकार ने निर्णय लेकर औरंगाबाद की लैबोरेट्री से नागपुर की लैबोरेट्री में 7 कर्मचारियों को अस्थायी तौर पर नियुक्त किया। नागपुर की लैबोरेट्री में काम कर रहे इन कर्मचारियों को अौरंगाबाद से वेतन भत्ता दिया जाता रहा। अन्य खर्चों का अधिकार सह आयुक्त अन्न व औषधि प्रशासन नागपुर को दिया गया। फिलहाल राज्य में अन्न और औषधि प्रशासन के विविध संवर्ग में 1183 पद मंजूर हैं। इनमें 103 तकनीकी पद लैबोरेट्री  के लिए हैं।

कर्मचारियों की आवश्यकता को देखते हुए 1560 पद भर्ती के संबंध में प्रस्ताव तैयार किया गया है। वित्त विभाग में वह प्रस्ताव भेजा गया। इस नये पदभर्ती के प्रस्ताव में लैबोरेट्री  के लिए 219 पदों का समावेश है। इन पदों की भर्ती के लिए उच्च स्तरीय सचिव समिति की मंजूरी आवश्यक है। वह मंजूरी लेने की प्रक्रिया चल रही है। मंजूरी मिलते ही पद भर्ती के प्रस्ताव पर कार्यवाही होगी।

कमेंट करें
nechl