comScore

जुलाई में फ्री दाल-चावल मिलने के नहीं आसार

जुलाई में फ्री दाल-चावल मिलने के नहीं आसार

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  कारोना संक्रमण के कारण सरकार ने तीन महीने (अप्रैल, मई व जून) गरीबों व जरूरतमंदों को प्रति व्यक्ति 5 किलो चावल व प्रति कार्ड एक किलो दाल मुफ्त दी। कोरोनाकाल लंबा खींचने से अभी भी लोगों के पास काम-धंधा नहीं है। इसलिए अब भी सरकारी से मदद की दरकार है। दूसरी ओर, जुलाई में मुफ्त चावल व दाल मिलेगी या नहीं, इस पर संशय की स्थिति है। जुलाई महीने में मुफ्त चावल व दाल वितरण संबंधी आदेश सरकार से प्राप्त ही नहीं हुआ है। साथ ही,  केसरी कार्ड पर अनाज वितरण जारी रखने का आदेश भी नहीं मिला है। 

मुफ्त चावल व दाल का लाभ शहर में 12 लाख से ज्यादा लोगों को मिला 
सरकार ने लॉकडाउन के दौरान तीन महीने तक अंत्योदय व प्राधान्य गट के कार्ड पर मुफ्त चावल व एक किलो दाल (चना या तुअर) देने का निर्णय लिया था। प्रशासन का दावा है कि  12 लाख से ज्यादा जरूरतमंदों को अप्रैल, मई व जून में मुफ्त चावल व दाल मिली। कोराेनाकाल लंबा खींचने से अभी भी हाथों को काम नहीं मिल रहा। अभी तक सरकार ने नया आदेश जारी नहीं किया है। अनाज खरीदने के पहले राशन दुकानदारों को संबंधित राशि का चालान बैंक में जमा करना पड़ता है। 

8 रु. किलो गेहूं व 12 रु. किलो के भाव चावल
राज्य सरकार ने मई व जून महीने में केसरी राशन कार्ड पर प्रति व्यक्ति 5 किलो अनाज वितरित करने का आदेश जारी किया था। 8 रुपए किलो के भाव गेहूं व 12 रुपए किलो के भाव चावल था। कोई आदेश नहीं आने के कारण केसरी कार्ड पर जुलाई में अनाज मिलना मुश्किल दिख रहा है। 

मुफ्त चावल वितरण की सूचना नहीं 
जुलाई महीने में मुफ्त चावल वितरण के बारे में प्रशासन की तरफ से कोई सूचना नहीं मिली है। तीन महीने तक जो मुफ्त चावल व दाल बांटी, उसका कमीशन अभी तक नहीं मिला।   -गुड्डू अग्रवाल, अध्यक्ष, राशन दुकानदार संघ नागपुर. 

अनाज वितरण को लेकर अभी कोई आदेश नहीं
अप्रैल से जून तक  मुफ्त चावल व दाल वितरित करने का आदेश था। जुलाई महीने में मुफ्त चावल व दाल वितरण संबंधी आदेश सरकार से प्राप्त नहीं हुआ है। केसरी कार्ड पर अनाज वितरण जारी रखने का भी आदेश नहीं मिला। उम्मीद है कि राशन दुकानदारों का कमीशन एक महीने में उनके बैंक खातों में भेज दिया जाएगा। -अनिल सवई, खाद्यान्न वितरण अधिकारी, नागपुर. 

कमेंट करें
3vzUn