comScore

उत्तर बस्तर कांकेर : खेलो इण्डिया लघु केन्द्र योजना के तहत खिलाड़ियों को मिलेगा अवसर

July 25th, 2020 17:11 IST
उत्तर बस्तर कांकेर : खेलो इण्डिया लघु केन्द्र योजना के तहत खिलाड़ियों को मिलेगा अवसर

डिजिटल डेस्क, उत्तर बस्तर कांकेर 24 जुलाई 2020 - शासन द्वारा खेलो इण्डिया योजना अंतर्गत खेलों के विकास एवं प्रोत्साहन हेतु ‘‘खेलों इण्डिया लघु केन्द्र योजना’’ प्रारंभ की जा रही हैं, जिसके अंतर्गत जिले में लघु केन्द्र स्थापित किया जायेगा। जिला खेल एवं युवा कल्याण अधिकारी ने बताया कि खिलाडियों को प्रशिक्षित करने की इस योजना अंतर्गत इसका संचालन पूर्व चैम्पियन खिलाडियों के माध्यम से किया जाएगा। पूर्व चैम्पियन खिलाड़ी प्रशिक्षक एवं मार्गदर्शक बनें व उसके अनुभव का पर्याप्त उपयोग खिलाडियों के प्रशिक्षण पर किया जाए, साथ ही योजना में यह भी सुनिश्चित किया गया हैं कि इन पूर्व चैम्पियन खिलाडियों को इस कार्य से कुछ आय प्राप्त हो सकें। इस योजना अंतर्गत ओलम्पिक खेलों में खेले जाने वाले 14 खेल यथा आर्चरी (तीरदांजी) एथलेटिक्स, बैडमिंटन, बॉकि्ंसग, साइकिलिंग, फेंसिंग(तलवारबाजी), हॉकी, जूडो, रोइंग, शूटिंग, स्विमिंग(तैराकी) टेबल-टेनिस, वेटलिफ्टिंग भारोत्तोलन), रेसलिंग (कुश्ती) के साथ ही फुटबाल एवं पारंपारिक खेल भी शामिल हैं। खेलो इण्डिया सेंटर की स्थापना के लिए पूर्व चैम्पियन खिलाडियों को अनुदान, प्रशिक्षक, सपोर्टिंग स्टाफ, खेल उपकरण क्रय, खेल किट एवं प्रतियोगिता में टीम को सम्मिलित करने के लिए प्रति खेल 5 लाख के मान से अधिकतम 03 खेलों हेतु राशि प्रदान कि जायेगी। आवेदकों से प्राप्त प्रस्ताव में से अधिकतम 03 खेलो इण्डिया लघु केन्द्रों के संचालन हेतु प्रस्ताव का चयन खेल अधिकारी खेल विभाग कांकेर द्वारा किया जाकर जिला कलेक्टर से अनुशंसा प्राप्त करने के पश्चात संचालनालय खेल एवं युवा कल्याण रायपुर छत्तीसगढ़ को प्रेषित किया जायेगा। खेलो इण्डिया लघु केन्द्र योजना में पूर्व चैम्पियन खिलाडियों द्वारा नवोदित खिलाडियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। पूर्व चैम्पियन खिलाड़ी नवोदित खिलाडियों से प्रशिक्षण हेतु कुछ शुल्क भी प्राप्त कर सकते हैं। चयनित खेलो इण्डिया केन्द्रों को सरकार द्वारा 04 वर्ष के लिए आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जावेगी। 04 वर्ष के पश्चात पूर्व चैम्पियन खिलाडियों की पहचान प्रशिक्षक के रुप में स्थापित होने से वह स्वंय के संसाधनों से केन्द्र का संचालन भविष्य में निरंतर कर सकेंगे। खेलो इंडिया लघु केंद्र संचालन हेतु पूर्व एथलिटों के लिए प्राथमिकता पहली वरीयताः- व्यक्तिगत खेल में मान्यता प्राप्त एनएसएफ संबंधित खेलों के मान्यता प्राप्त संघ द्वारा अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता में भारत का प्रतिनिधित्व किया हो। दलीय खेलों में मान्यता प्राप्त एनएसएफ संबंधित खेलों के मान्यता प्राप्त संघ द्वारा अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता में भारत का प्रतिनिधित्व किया हो। दूसरी वरीयताः- व्यक्तिगत खेलों में मान्यता प्राप्त एनएसएफ संबंधित खेलों में सीनियर राष्ट्रीय पूर्व प्रतियोगिता में पदक प्राप्त खिलाड़ी या खेलां इण्डिया गेम्स में पदक प्राप्त खिलाड़ी। दलीय खेलों में मान्यता प्राप्त एनएसएफ संबंधित खेलों में सीनियर राष्ट्रीय पूर्व प्रतियोगिता में पदक प्राप्त दल का हिस्सा हो या खेलां इण्डिया गेम्स में पदक प्राप्त दल का हिस्सा हो। तीसरी वरीयताः- व्यक्तिगत खेलों में नेशनल एआईयू पूर्व प्रतियोगिता में पदक विजेता खिलाड़ी। दलीय खेलों में नेशनल एआईयू की पूर्व प्रतियोगिता में पदक जीतने वाली टीम का हिस्सा। चौथी वरीयताः- व्यक्तिगत खेलों में मान्यता प्राप्त एनएसएफ द्वारा आयोजित सीनियर राष्ट्रीय पूर्व प्रतियोगिता में राज्य का प्रतिनिधित्व किया हो। अथवा खेलो इण्डिया गेम्स में प्रतिनिधित्व किया हो। दलीय खेलों में मान्यता प्राप्त एनएसएफ द्वारा आयोजित सीनियर राष्ट्रीय पूर्व प्रतियोगिता में राज्य का प्रतिनिधित्व किया हो अथवा खेलो इण्डिया गेम्स में प्रतिनिधित्व किया हो। आवेदकों के लिए अधिकतम आयु सीमा 40 वर्ष होगी विकासखण्ड एवं जिला स्तर पर अशासकीय स्कूल, कॉलेज, संस्था एवं अन्य उपलब्ध खेल अधोसंरचना का उपयोग पूर्व चैम्पियन खिलाडी, प्रशिक्षक द्वारा इन प्रस्तावित खेलो इण्डिया केन्द्र के लिए किया जा सकता हैं। अशासकीय एवं अशासकीय संस्था, कॉलेज के पूर्व चैम्पियन खिलाड़ी द्वारा आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 जुलाई शाम 5 बजे तक कार्यालय खेल एंव युवा कल्याण विभाग कांकेर में जमा कर सकते हैं। संचालनालय खेल एवं युवा कल्याण के आदेशानुसार आवेदन तिथि में परिवर्तन किया जा सकता है। अधिक जानकारी के लिए युवा कार्यक्रम की वेबसाइट sportsauthorityofindia.nic.in में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। क्रमांक/974/संत कच्छप

कमेंट करें
jAxQY