comScore

श्रमिकों की होने लगी वापसी, औद्योगिक क्षेत्रों में बढ़ी चहल-पहल

श्रमिकों की होने लगी वापसी, औद्योगिक क्षेत्रों में बढ़ी चहल-पहल

डिजिटल डेस्क, नागपुर। लॉकडाउन के कारण अपने घर लौटे श्रमिकों की अब धीरे-धीरे वापसी होने लगी है। शहर के हिंगना और बुटीबोरी औद्योगिक क्षेत्र में अब तक 4000 से अधिक श्रमिक काम पर वापस आ चुके हैं। बाहर से आने के कारण नियमानुसार उन्हें 14 दिन के लिए क्वारेंटाइन करके रखा जाता है। वापस लौटे श्रमिकों में से अधिकांश वापस काम पर लौट चुके है, लेकिन अब भी उद्योग 50-60 प्रतिशत क्षमता के साथ ही काम कर रहे हैं। बुटीबोरी एमआईडीसी में लगभग 3 हजार और हिंगना एमआईडीसी में एक हजार श्रमिक वापस लौटे हैं।

लॉकडाउन से पहले बुटीबोरी में 35 हजार श्रमिक कार्यरत थे। इनमें से 20 हजार कर्मचारी परमानेंट और बाकी कॉन्ट्रैक्टर द्वारा लाए गए थे। लॉकडाउन के दौरान यहां से 15 हजार श्रमिक पलायन कर चुके थे। फिलहाल यहां 20 हजार कर्मचारी काम कर रहे हैं। उसी प्रकार हिंगना एमआईडीसी में लगभग 15 हजार श्रमिक कार्यरत थे। इनमें से 10 हजार श्रमिक अभी काम कर रहे हैं। बाहर से आनेवाले श्रमिकों को पहले 14 दिन क्वारेंटाइन किया जा रहा है।  उसके बाद उन्हें काम पर वापस लिया जा रहा है। अभी भी उद्योगों में उत्पादन क्षमता नहीं बढ़ाई गई है।

कुछ क्वारेंटाइन, कुछ कर रहे काम
वापस लौटे श्रमिकों में से कुछ काम पर लौट चुके हैं और कुछ अभी क्वारेंटाइन हैं। बुटीबोरी में फार्मा, स्टील, बिस्कुट फैक्ट्री, ऑटोमोबाइल सेक्टर के साथ ही बहुत से अन्य उद्योग हैं। इनमें से कई उद्योग अत्यावश्यक सेवाओं के अंतर्गत आते हैं। लॉकडाउन के बावजूद ये उद्योग शुरू थे। अधिकांश कारखाने लॉकडाउन के दौरान बंद रहे। लॉकडाउन के दौरान बंद रहे उद्योग में अभी 30-40 प्रतिशत क्षमता से काम हो रहा है। उधर, श्रमिक तो लौटने लगे हैं, लेकिन अब भी प्रशासन द्वारा फैक्ट्रियों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए 15 प्रतिशत क्षमता के साथ काम करने का नियम लागू है। यदि सभी श्रमिक वापस लौटते भी हैं तो फैक्ट्रियों में पूरी क्षमता के साथ काम नहीं हो पाएगा। श्रमिकों की वापसी का सिलसिला लगातार जारी है। प्रशासन के दिशानिर्देशों का पालन करते हुए श्रमिकों को काम पर वापस लिया जा रहा है। 

बरत रहे सावधानी 
बाहर से श्रमिकों का आना जारी है। पूरी तरह जांच कराने के बाद ही उन्हें वापस काम पर लिया जा रहा है। पहले ही एमआईडीसी क्षेत्र में कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं, इसीलिए अब सावधानी बरती जा रही है। - चंद्रशेखर शेगावकर, अध्यक्ष, हिंगना एमआईडीसी एसोसिएशन

नोडल ऑफिसर नियुक्त करने की मांग
बुटीबोरी एमआईडीसी में भी श्रमिकों की वापसी हो रही है। ग्राम पंचायत के नियमों के कारण थोड़ी दिक्कत आ रही है। हमने एमआईडीसी के लिए नोडल ऑफिसर नियुक्त करने की मांग की है। यदि हमारी मांग मान ली जाती है, तो काम करने में बहुत आसानी हाेगी।  -प्रदीप खंडेलवाल, अध्यक्ष, बुटीबोरी एमआईडीसी एसोसिएशन

कमेंट करें
tOIQX