कुख्यात बाजार: अमेरिका ने नकली सामानों का कारोबार करने वाली सूची में अलीबाबा,टेनसेंट को किया शामिल

February 18th, 2022

हाईलाइट

  • अमेरिका और चीन के बीच बौद्धिक संपदा और कारोबार को लेकर तनातनी पुरानी है

डिजिटल डेस्क, नयी दिल्ली। अमेरिका ने नकली सामानों का कारोबार करने वाली की सूची में चीन की दिग्गज कंपनियों अलीबाबा और टेनसेंट को शामिल किया है। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका की इस कुख्यात बाजार सूची में अलीबाबा और टेनसेंट द्वारा संचालित 42 ऑनलाइन वेबसाइट और 35 स्टोर को शामिल किया गया है। अमेरिका ने वर्ष 2006 से कुख्यात बाजारों को चिह्न्ति करना शुरू किया था।

अमेरिका की ट्रेड एजेंसी का कहना है कि ये दोनों कंपनियां नकली सामान के कारोबार में लिप्त हैं या इस कारोबार को बढ़ावा दे रही हैं। ये कंपनियां ट्रेडमार्क और कॉपीराइट का उल्लंघन कर रही हैं।

अमेरिका और चीन के बीच बौद्धिक संपदा और कारोबार को लेकर तनातनी पुरानी है। अमेरिका के व्यापार प्रतिनिधि कैथरीन ताइ का कहना है कि नकली और तस्करी के सामानों के वैश्विक कारोबार से अमेरिकी इनोवेशन तथा सृजनात्मकता दोनों प्रभावित होती है और इससे अमेरिकी कर्मचारियों का नुकसान होता है।

अमेरिका ने इस सूची में पहली बार अली एक्सप्रेस और वी-चैट ई-कॉमर्स साइट को भी शामिल किया है। अली एक्सप्रेस अलीबाबा और वी चैट टेनसेंट द्वारा संचालित है। चीन आधारित बायदू वैंगपैन, डीएचगेट, पिनदुओदुओ और ताओबायो इस सूची में अब भी शामिल हैं। इसके अलावा चीन के वे नौ बाजार भी सूची में शामिल हैं, जो नकली सामानों को बनाते हैं, उनका वितरण करते हैं और बिक्री करते हैं।

टेनसेंट का कहना है कि उसने अपने प्लेटफॉर्म पर बौद्धिक संपदा अधिकार की रक्षा के लिए काफी अधिक निवेश किया है। कंपनी ने बीबीसी से कहा कि वह अमेरिका के इस फैसले से असहमत है और वह इस मसले के हल के लिए मिलकर काम करने को तैयार है। अलीबाबा ने इस विषय में कोई टिप्पणी नहंी की है।

आईएएनएस