दैनिक भास्कर हिंदी: बाबा रामदेव की 'पतंजलि' सोलर उपकरण बनाने वाली चीनी कंपनियों को देगी टक्कर

December 5th, 2017

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। योग गुरु बाबा रामदेव एक अच्छे बिजनेसमैन भी बन गए हैं। अपनी फास्ट मूविंग कंज्यूमर गुड्स (FMCG) कंपनी 'पतंजलि' को फेमस करने के बाद अब रामदेव जल्द ही इंफ्रास्ट्रक्टर सेक्टर में कदम रखने जा रहे हैं। कई विदेशी कंपनियों को कॉस्मेटिक मार्केट में कड़ी टक्कर देने के बाद बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि' सौर ऊर्जा से संचालित उपकरणों के उत्पादन पर हाथ अजमाना चाहती है। अभी भारत में सौर ऊर्जा से संचालित उपकरणों के मार्केट में चीन का दबदबा है। ऐसे में पतंजलि ऐसे में चीनी कंपनियों को टक्कर देगी।

इस संबंध में पतंजलि आयुर्वेद के CEO आचार्य बालकृष्ण ने बताया कि स्वदेशी आंदोलन के साथ ही उनकी कंपनी सोलर सेक्टर में उतरने का मन बना चुकी है। आचार्य बालकृष्ण ने कहा हमारा उद्देश्य सोलर ऊर्जा से भारत के हर परिवार में बिजली की आपूर्ति का है इसलिए अब हम इस क्षेत्र में उतरने के लिए तैयार हैं। सरकार 2022 तक 175 GW नवीकरणीय ऊर्जा हासिल करने की तैयारी में है। ऐसा बताया जा रहा है कि पतंजलि सोलर ऊर्जा के क्षेत्र में 100 करोड़ रुपए का निवेश का करने का मन बना जा चुकी है। आपको बता दें कि साल की शुरुआत में पतंजलि ने अडवांस नेविगेशन ऐंड सोलर टेक्नॉलजीज कंपनी का अधिग्रहण किया था। ये कंपनी नेविगेशन में मदद करने वाले उपकरण का निर्माण करती है। पतंजलि सोलर उपकरण बनाने की अपनी यह कंपनी ग्रेटर नोएडा में कुछ महीनों के अंदर शुरू कर सकती है।

मौजूदा समय में भारत में सोलर पावर इंडस्ट्री की स्थिती कोई ज्यादा अच्छी नहीं मानी जा रही है। हालांकि मोदी सरकार सोलर पावर इंडस्ट्री और उपकरण को बढ़ावा दे रही है। हाल भारत का सोलर मार्केट चीनी कंपनियों से भरा पड़ा है। हाल ही में खराब गुणवत्ता वाले चीनी सोलर मॉड्यूल्स की रिपोर्टें आई थीं। ऐसे में देखना है कि पतंजलि इन सब चुनौतियों से कैसे निपटने की योजना बनाएगी।

इसके साथ ही रामदेव जल्द ही फैशन के मार्केट में एंट्री करने की तैयारी कर रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रामदेव अगले साल तक 'परिधान' नाम का फैशन ब्रांड लॉन्च कर सकते हैं। हमेशा भगवा चोला पहने बाबा रामदेव अब देश के युवाओं और बच्चों को 'स्वदेशी जींस' पहनाने के मूड में हैं। कहा जा रहा है कि इस ब्रांड के तहत एक साल में 5000 करोड़ का बिजनेस करने का टारगेट है।