दैनिक भास्कर हिंदी: मेहुल चोकसी का एक और वीडियो, कहा- PNB ने जांच एजंसियों को दी गलत जानकारी

September 12th, 2018

हाईलाइट

  • मेहुल चोकसी ने मंगलवार को पीएनबी को जांच एजेंसियों को गलत जानकारी देने के लिए लिए ज़िम्मेदार ठहराया।
  • मेहुल ने कहा कि यह अभूतपूर्व था कि बिना जांच के उनकी कंपनी पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई।
  • पंजाब नेशनल बैंक में सामने आए 13000 करोड़ से ज्यादा के घोटाले के आरोपी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी है।

डिजिटल डेस्क, एंटीगुआ। भगोड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी ने मंगलवार को अपना एक और वीडियो जारी कर पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) को जांच एजेंसियों को गलत जानकारी देने के लिए लिए ज़िम्मेदार ठहराया है। मेहुल ने कहा है कि यह अभूतपूर्व था कि बिना जांच के उनकी कंपनी पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई। बता दें कि पंजाब नेशनल बैंक में सामने आए 13000 करोड़ से ज्यादा के घोटाले के आरोपी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी है। दोनों ही घाटाला सामने आने के बाद से देश के बाहर हैं।

चोकसी ने वीडियो स्टेटमेंट में कहा, "29 जनवरी को पीएनबी ने शिकायत करते हुए कहा कि उनकी ब्रांच में तीन कंपनियों का फ्रॉड सामने आया है। ये कंपनिया हीरा काराबारी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की है। इसके बाद जांच एजेंसियों ने मेरी कंपनियों पर रेड करना शुरू कर दिया क्योंकि उन्हें पंजाब नेशनल बैंक की तरफ से गलत जानकारी दी गई थी। जांच एजेंसियों ने 2 फरवरी को रेड करना शुरू किया था जो 14-15 फरवरी तक जारी रही। जांच एजेंसियों ने इस दौरान सभी फैक्ट्री और शोरूम की इंवेन्ट्री को सीज कर दिया। इतना ही नहीं उन्होंने बैंक अकाउंट और सर्वर को भी सीज किया।'

चोकसी ने कहा, "उस समय मैं भारत में नहीं था क्योंकि मेरी चिकित्सा प्रक्रिया चल रही थी। एजेंसियों ने तब तक लगभग 6,000 करोड़ रुपये संपत्ति जब्त की थी। उस समय तीन एजेंसियों ने रेड की थीं- सीबीआई, ईडी और आयकर (आईटी)। इस बीच, मैंने पीएनबी से पूछा कि यह क्यों हुआ और इसमें मेरा नाम क्यों शामिल है। उन्होंने कहा 95 या 93 के पुराने केवाईसी के अनुसार, मेरा नाम वहां था और यही कारण है कि आपका नाम शामिल किया गया है।' चोकसी ने कहा कि वह साल 2000 में कंपनी से रिटायर हो चुके थे। इसके बाद पीएनबी से उन्होंने इस मामले को देखने के लिए कहा।

चोकसी ने दावा किया कि उनकी कंपनी द्वारा लिखे गए एक पत्र के जवाब में, पीएनबी ने कहा था कि वे बैठकर इस मामले को हल करना चाहते हैं। चोकसी ने कहा "मैं उस समय डर में था। मैं अस्पताल में था। मैंने अपनी कंपनी को इस बारे में पीएनबी से बात करने की सलाह दी। हमने पीएनबी को एक पत्र लिखा और 13 फरवरी को जवाब मिला कि वे बैठकर इस मामले को हल करना चाहते हैं। मैं आश्चर्यचकित हूं कि इसके बाद भी रेड नहीं रुकी और लगभग 5000 करोड़ रुपए की ज्वैलरी जब्त की। मैं इस घटना पर शॉक रह गया।''

इससे पहले मंगलवार सुबह ही चोकसी ने अपना पहला वीडियो जारी कर कहा था, 'मुझ पर ED द्वारा लगाए गए सभी आरोप झूठे और निराधार हैं। उन्होंने गलत तरीके से मेरी संपत्तियों को जब्त किया है। उन्होंने गैर कानूनी तरीके से मेरी संपत्ति जब्त कर ली है। ईडी और सीबीआई मुझे फंसा रहे हैं।''