दैनिक भास्कर हिंदी: दूरसंचार विभाग निजी दूरसंचार कंपनियों से चीनी कंपनियों संग संबंधों की समीक्षा के लिए कह सकता है

June 19th, 2020

हाईलाइट

  • दूरसंचार विभाग निजी दूरसंचार कंपनियों से चीनी कंपनियों संग संबंधों की समीक्षा के लिए कह सकता है

नई दिल्ली, 18 जून (आईएएनएस)। चीन के साथ सीमा पर जारी तनाव के बीच सूत्रों ने कहा है कि दूरसंचार विभाग निजी दूरसंचार कंपनियों, वोडाफोन आईडिया, भारती एयरटेल और रिलायंस जियो को चीनी प्रौद्योगिकी कंपनियों और उपकरण निर्माताओं के साथ अपनी संभावित साझेदारी की समीक्षा करने को कह सकता है।

सरकार ने सरकारी कंपनियों बीएसएनएन और एमटीएनएल से भी कहा है कि वे 4जी फैसिलिटीज की अपनी अपग्रेडिंग प्रक्रिया में चीनी निर्माताओं के उपकरण का इस्तेमाल न करें।

चीन की दूरसंचार उपकरण निर्माता प्रमुख कंपनियां हुआवेई और जेडटीई भारतीय दूरसंचार कंपनियों के साथ काम कर रही हैं।

देश में बहुप्रतीक्षित 5जी ट्रायल के संबंध में इसका असर दिख सकता हे। काफी बातचीत के बाद केंद्र सरकार ने हुआवेई को 5जी ट्रायल में हिस्सा लेने की अनुमति देने का निर्णय पिछले साल दिसंबर में लिया था।

यह कदम चीनी आपूर्तियों और आयातों पर निर्भरता घटाने की सरकार की रणनीति के हिस्से के रूप में उठाया गया है।

अन्य खंडों में भी सरकारी एजेंसियां चीनी कंपनियों के साथ साझेदारी की समीक्षा कर सकती हैं।

एक अन्य घटनाक्रम के तहत डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (डीएफसीसीआईएल) ने बीजिंग नेशनल रेलवे रिसर्च एंड डिजाइन इंस्टीट्यूट ऑफ सिग्नल एंड कम्युनिकेशन ग्रुप कंपनी लिमिटेड (बीएनआरआरडीआईएससी) के साथ 471 करोड़ रुपये के टेंडर को खराब प्रदर्शन के कारण रद्द करने का निर्णय लिया है।