दैनिक भास्कर हिंदी: 18 दिसंबर तक कोर्ट में पेश नहीं हुए तो घोषित अपराधी करार दिए जाएंगे विजय माल्या

November 9th, 2017

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। शराब कारोबारी विजय माल्या को अपराधी घोषित करने के लिए बुधवार को प्रवर्तन निदेशालय (ED) दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट पहुंचा। ED ने विजय माल्या पर फॉरेन एक्सचेंज रेग्युलेशन एक्ट (FERA) के उल्लंघन का आरोप लगाया, जिस पर कोर्ट ने माल्या को 18 दिसंबर तक पेश होने का आदेश दिया। कोर्ट ने कहा कि तय तारीख पर यदि विजय माल्या कोर्ट में पेश नहीं होते हैं तो उन्हें घोषित अपराधी करार दिया जाएगा।

 

ईडी की ओर से स्पेशल पब्लिक प्रोग्जिक्यूटर एनके मट्टा ने कोर्ट को बताया कि एजेंसी के पास माल्या को घोषित अपराधी करार देने की कार्रवाई शुरू करने के अलावा और कोई विकल्प नहीं बचा है। गौरतलब है कि कोर्ट ने इस साल 9 जुलाई को माल्या को व्यक्तिगत पेशी से मिली छूट रद्द कर दी थी और उन्हें 9 सितंबर को हर हाल में कोर्ट में पेश होने का आदेश दिया था, लेकिन वह हाजिर नहीं हुए।

 

माल्या के ओर से वकील ने दलील दी थी कि वे भारत लौटना चाहते हैं, लेकिन उनका पासपोर्ट रद्द कर दिया गया है, जिसके चलते चाहकर भी वे भारत नहीं आ सकते। इस पर कोर्ट ने कहा था कि माल्या की याचिका बदनीयत से दाखिल की गई है। इससे पहले कोर्ट ने 12 अप्रैल को माल्या के खिलाफ ओपन एंडेड नॉन बेलेबल वारंट जारी किया था। पिछले साल चार नवंबर को भी उनके खिलाफ नॉन बेलेबल वारंट भी जारी किया गया था। कोर्ट ने कहा था कि माल्या कई मामलों में आरोपी हैं और उन मामलों में पेश भी नहीं हो रहे हैं। ऐसे में उनके खिलाफ अनिवार्य प्रक्रिया शुरू करने की जरूरत है।

 

गौरतलब है कि विजय माल्‍या भारतीय बैंकों से 9000 करोड़ रुपये का कर्ज लेकर फरार हैं और लंदन में रह रहे हैं। 2 मार्च 2016 से ही माल्या लंदन में रह रहे हैं। ईडी और सीबीआई को माल्या की तलाश है। ED 4 बार विजय माल्या को समन भेज चुका है। प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) से जुड़े एक मामले में मुंबई की एक स्पेशल कोर्ट माल्या को भगोड़ा भी घोषित कर चुकी है। उनका पासपोर्ट भी रद्द किया जा चुका है। इसी साल फरवरी में भारत ने ब्रिटेन से माल्या के प्रत्यर्पण की भी अपील की थी।