तलाशी अभियान: आयकर विभाग ने दिल्ली, मुंबई में की तलाशी

July 16th, 2022

हाईलाइट

  • आयकर विभाग ने दिल्ली, मुंबई में की तलाशी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। आयकर विभाग ने शुक्रवार को कहा कि उसने आतिथ्य, मार्बल, लाइट्स ट्रेडिंग और रियल एस्टेट के कारोबार में लगे दिल्ली और मुंबई के एक समूह पर सात जुलाई को तलाशी और जब्ती अभियान चलाया था। अधिकारी ने कहा कि तलाशी अभियान के दौरान दिल्ली, मुंबई और दमन में कुल 18 परिसरों को कवर किया गया।

अधिकारी ने कहा, खोज अभियान के दौरान, हार्ड कॉपी दस्तावेजों और डिजिटल डेटा के रूप में बड़ी संख्या में आपत्तिजनक सबूत पाए गए और जब्त किए गए। इन सबूतों से संकेत मिलता है कि समूह ने कुछ कम कर क्षेत्राधिकारों में अपना अघोषित धन विदेशों में रखा है। मलेशिया स्थित वेब कंपनियों के माध्यम से समूह ने अंतत: भारत में अपने आतिथ्य व्यवसाय में धन का निवेश किया है।

ऐसा अनुमान है कि इस तरह के धन की मात्रा 40 करोड़ रुपये से अधिक है। अधिकारी ने आगे कहा कि एकत्र किए गए सबूत बताते हैं कि समूह ने विदेशों में कुछ कंपनियों में निवेश किया है, जिन्हें विशेष रूप से कमोडिटी ट्रेडिंग के लिए शामिल किया गया था। ऐसी एक कंपनी की कुल संपत्ति जिसमें उसके अर्जित लाभ भी शामिल हैं, समूह द्वारा अपने आईटीआर में प्रासंगिक अवधि के लिए प्रकट नहीं किया गया था।

इसके अलावा, यह पता चला कि समूह के प्रमोटर ने विदेशी क्षेत्राधिकार में एक अचल संपत्ति में निवेश किया था जिसका खुलासा उसके आयकर रिटर्न में नहीं किया गया था। इनके अलावा, कमोडिटी ट्रेडिंग के लिए स्थापित कुछ अपतटीय संस्थाओं की पहचान की गई है, जिन्हें घोषित नहीं किया गया है।

तलाशी कार्रवाई से यह भी पता चला कि यह समूह अपने भारतीय परिचालनों में आउट-ऑफ-बुक नकद बिक्री में शामिल था। इसके मार्बल और लाइट्स के व्यापारिक कारोबार में, जब्त किए गए साक्ष्य कुल बिक्री के 50 से 70 प्रतिशत तक की बेहिसाब नकद बिक्री का संकेत देते हैं। 30 करोड़ रुपये का अघोषित अतिरिक्त स्टॉक भी मिला है।

इसके आतिथ्य व्यवसाय में, विशेष रूप से बैंक्वेट डिवीजन में बेहिसाब बिक्री का पता चला है। अब तक ढाई करोड़ रुपये मूल्य के अघोषित आभूषण जब्त किए जा चुके हैं।

सोर्स: आईएएनएस

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.