comScore

जियो प्लेटफार्म में एडीआईए की तरफ से 5683 रुपये का निवेश

June 08th, 2020 12:31 IST
 जियो प्लेटफार्म में एडीआईए की तरफ से 5683 रुपये का निवेश

हाईलाइट

  • जियो प्लेटफार्म में एडीआईए की तरफ से 5683 रुपये का निवेश

मुंबई, 7 जून (आईएएनएस)। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) ने रविवार को आबूधाबी इंवेस्टमेंट अथारिटी (एडीआईए) की पूर्ण स्वामित्व वाली एक सहयोगी इकाई की तरफ से जियो प्लेटफॉर्म्स में 5,683.50 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की है।

कोरोनावायरस के बीच मुकेश अंबानी की कंपनी जियो प्लेटफॉर्म्स में पिछले 47 दिनों में 8 निवेशों के जरिए जियो प्लेटफॉर्म्स में 21.06 फीसदी इक्विटी के लिए कुल 97,885.65 करोड़ रुपये का निवेश हो चुका है। यह निवेश 22 अप्रैल को फेसबुक से शुरू हुआ था, उसके बाद सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी, जनरल अटलांटिक, केकेआर, मुबाडला और सिल्वर लेक ने अतिरिक्त निवेश किया था।

जियो प्लेटफॉर्म्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की फुली ओन्ड सब्सिडियरी है। यह एक नेक्स्ट जनरेशन टेक्नॉलोजी कंपनी है जो भारत को एक डिजिटल सोसायटी बनाने के काम में मदद कर रही है। इसके लिए जियो के प्रमुख डिजिटल एप, डिजिटल ईकोसिस्टम और भारत के नंबर 1 हाई-स्पीड कनेक्टिविटी प्लेटफॉर्म को एक-साथ लाने का काम कर रही है। रिलायंस जियो इंफोकॉम लिमिटेड, जिसके 38 करोड़ 80 लाख ग्राहक हैं, वह जियो प्लेटफॉर्म्स लिमिटेड की होल्ली ओन्ड सब्सिडियरी बनी रहेगी।

1976 में स्थापित, एडीआईए विश्व स्तर पर आबूधाबी सरकार की ओर से निवेश करती है। एडीआईए एक वैश्विक निवेश पोर्टफोलियो का प्रबंधन करता है जो दो दर्जन से अधिक परिसंपत्ति वर्गों और उप-वर्गों में है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा, मुझे खुशी है कि एडीआईए, निवेश के चार दशक की सफलता के ट्रैक रिकॉर्ड के साथ, जियो प्लेटफार्मों के साथ पार्टनरशिप कर रहा है। वह जियो के मिशन में भागीदार है। जो भारत के लिए डिजिटल लीडरशिप और समावेशी विकास के अवसर पैदा करता है।

एडीआईए में प्राइवेट इक्विटी विभाग के कार्यकारी निदेशक हमाद शाहवान अल्दहेरी ने कहा, जियो प्लेटफार्म भारत की डिजिटल क्रांति में सबसे आगे है। जियो में हमारा निवेश एडीआईए के बाजार की अग्रणी कंपनियों में निवेश करने की हमारी गहरी समझ और विशेषज्ञता को प्रदर्शित करता है।

जियो एक ऐसे डिजिटल भारत का निर्माण करना चाहता है जिसका फायदा 130 करोड़ भारतीयों और व्यवसायों को मिले। एक ऐसा डिजिटल भारत जिससे खास तौर पर देश के छोटे व्यापारियों, माइक्रो व्यवसाइयों और किसानों के हाथ मजबूत हों। जियो ने भारत में डिजिटल क्रांति लाने और भारत को दुनिया की सबसे बड़ी डिजिटल ताकतों के बीच अहम स्थान दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

कमेंट करें
iqROu