दैनिक भास्कर हिंदी: Covid-19: लॉकडाउन का असर, मारुति और एमजी मोटर्स ने अप्रैल में नहीं बेची एक भी कार

May 1st, 2020

हाईलाइट

  • मारुति और एमजी मोटर्स ने अप्रैल महीने में घरेलू बाजार में एक भी यूनिट नहीं बेची
  • दोनों कंपनियों ने प्रेस रिलीज जारी कर इसकी जानकारी दी
  • लॉकडाउन की वजह से कंपनियों की प्रोडक्शन फैसिलिटी बंद है

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया (MSI) और एमजी मोटर्स ने अप्रैल महीने में घरेलू बाजार में एक भी यूनिट नहीं बेची। दोनों कंपनियों ने शुक्रवार को प्रेस रिलीज जारी कर इसकी जानकारी दी। मारुति ने कहा कि सरकार के जारी निर्देशों की वजह से पिछले महीने सभी प्रोडक्शन फैसिलिटी बंद रही। हालांकि, कंपनी ने मुंद्रा पोर्ट से 632 यूनिट का एक्सपोर्ट किया। इस दौरान सभी सुरक्षा दिशानिर्देशों का पालन किया गया। 

 

 

पहली बार मारुति की सेल जीरो
मारुति सुजुकी की सेल पहली बार जीरो रही है। सरकार के लॉकडाउन के आदेश के बाद मारुति ने 22 मार्च के बाद से ही देश भर में अपना आपरेशन बंद किया हुआ है। पहले 21 दिनों का लॉकडाउन था, जिसे बढ़ाकर 40 दिन कर दिया गया है, जो 3 मई को खत्म होगा। देशव्यापी लॉकडाउन का असर आटो कंपनियों की सेल पर मार्च में भी दिखा था, जब हर कैटिगरी में ऑटोमोबाइल सेल्स के आंकड़े खराब हुए थे। मार्च में मारुति सुजुकी की बिक्री 47.4 फीसदी घटकर 76,420 यूनिट पर आ गई थी।

मार्च में छोटी कारों की बिक्री में 5 प्रतिशत की कमी
मारुति की छोटी कारों ऑल्टो और वैगनआर की बिक्री मार्च में  15,988 यूनिट रही, जो पिछले साल इसी महीने में 16,826 यूनिट थी। छोटी कारों की बिक्री में 5 प्रतिशत की कमी आई थी। स्विफ्ट, सेलेरियो, इग्निस, बलेनो और डिजायर जैसे मॉडल वाले कॉम्पैक्ट की बिक्री 50.9 फीसदी घटकर 40,519 यूनिट रही थी। विटारा ब्रेज़ा, एस-क्रॉस और एर्टिगा जैसे यूटिलिटी वाहनों की बिक्री 53.4 फीसदी कम हुई थी। इस दौरान निर्यात में 55 फीसदी की कमी आई थी।

मानेसर संयंत्र शुरू करने की इजाजत
इससे पहले मारुति सुजुकी ने बताया था कि उन्हें मानेसर संयंत्र शुरू करने की इजाजत मिल गई है। इसे अभी सीमित कार्यबल के साथ एक शिफ्ट में चलाना है। कंपनी की ओर से कहा गया है कि वह संयंत्र तभी शुरू करेगी, जब उसे लगेगा कि उत्पादन लगातार जारी रखा जा सकता है और तैयार कारों की बिक्री की जा सकती है।