दैनिक भास्कर हिंदी: नेपाल ने उद्योगों को पुनर्जीवित करने मौद्रिक नीति घोषित की

July 18th, 2020

हाईलाइट

  • नेपाल ने उद्योगों को पुनर्जीवित करने मौद्रिक नीति घोषित की

काठमांडू, 18 जुलाई (आईएएनएस)। नेपाल के केंद्रीय बैंक ने कोविड-19 महामारी से प्रभावित उद्योगों को राहत मुहैया करा कर उन्हें पुनर्जीवित करने के लिए कई सारे उपायों की घोषणा की है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, नेपाल राष्ट्र बैंक के गवर्नर महा प्रसाद अधिकारी ने 16 जुलाई से शुरू हुए वित्त वर्ष 2020-21 के लिए मौद्रिक नीति पेश करते हुए शुक्रवार को कहा कि ऋण किश्तों के पुनर्भुगतान की अंतिम समय सीमा अधिकतम एक साल तक बढ़ाई जाएगी, जो खास सेक्टर पर पड़े प्रभाव के परिमाण पर निर्भर होगी।

बुरी तरह प्रभावित उद्योग मध्य जुलाई के किश्तों का भुगतान मध्य जुलाई 2021 तक कर सकते हैं।

जिन उद्योगों पर महामारी का मध्यम दर्जे का असर हुआ है, वे किश्तों का भुगतान अप्रैल मध्य 2021 तक कर सकते हैं। और जिन उद्योगों पर कोविड-19 का हल्का असर हुआ है, वे अगले साल मध्य जनवरी तक किश्त का भुगतान कर सकते हैं।

नेपाल में पर्यटन और आतिथ्य तथा उड्डयन सेक्टर के साथ ही लघु एवं मध्यम उद्यम महामारी के कारण बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। इस महामारी के कारण देश में अबतक 40 लोगों की मौत हो चुकी है और 17,000 से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं।

मौद्रिक नीति में कोविड-19 प्रभावित सेक्टरों को कम दर पर ऋण देने की व्यवस्था करने का भी निर्णय लिया गया है।

50 अरब नेपाली रुपये (44.40 करोड़ डॉलर) के एक राहत पैकेज का इस्तेमाल बुरी तरह प्रभावित सेक्टरों को ऋण देने में किया जाएगा।

केंद्रीय बैंक ने कहा कि इन सेक्टरों को अधिकतम पांच प्रतिशत दर पर ऋण दिया जाएगा।