दैनिक भास्कर हिंदी: सेब से महंगा बिक रहा प्याज

September 23rd, 2019

नई दिल्ली, 23 सितम्बर (आईएएनएस)। प्याज एक बार फिर आम आदमी को रुलाने लगी है। यह सेब से भी महंगी हो गई है। औसत क्वालिटी का सेब खुदरा बाजार में 30-40 रुपये प्रति किलोग्राम भी मिल रहा है, लेकिन एक किलोग्राम प्याज के लिए कम से कम 50 रुपये की कीमत चुकानी पड़ रही है।

हालांकि अच्छी क्वालिटी का सेब 100 रुपये प्रति किलोग्राम तक है। इस बाबत राष्ट्रीय राजधानी की आजादपुर मंडी स्थि एग्रीकल्चर प्रोड्यूस मार्केटिंग कमेटी (एपीएमसी) के एक सूत्र ने बताया कि सेब की कई वेरायटी है, जिसका थोक भाव बीते कुछ दिनों से 200 रुपये से लेकर 1,400 रुपये प्रति पेटी चल रहा है।

एपीएमसी सूत्र ने बताया कि कश्मीरी सेब 200-900 रुपये प्रति पेटी (15 किलोग्राम) चल रहा है, जबकि शिमला से आने वाला सेब 600-1,400 रुपये प्रति पेटी (20 किलोग्राम) है।

चैंबर ऑफ आजादपुर फ्रूट एंड वेजिटेबल ट्रैडर्स के प्रेसिडेंट एम.आर. कृपलानी ने बताया कि शिमला से आने वाला सेब थोक में 30-60 रुपये प्रति किलोग्राम, जबकि कश्मीरी सेब 20-50 रुपये प्रति किलोग्राम बिक रहा है।

वहीं, आजादपुर मंडी के कारोबारी और ऑनियन मर्चेंट एसोसिएशन के प्रेसिडेंट राजेंद्र शर्मा ने बताया कि आवक में सुधार होने से सोमवार को प्याज में थोड़ी नरमी आई, फिर भी थोक भाव 25-45 रुपये प्रति किलोग्राम था। उन्होंने बताया कि दो कारोबारी सत्रों को मिलाकर सोमवार को आजादुर में प्याज की कुल आवक 150 ट्रक हो गई, जिसके कारण दाम तकरीब 2.50 रुपये प्रति किलो नरम हो गया है।

वहीं, एपीएमसी की वेबसाइट पर सोमवार को प्याज का भाव 22.50-42.50 रुपये प्रति किलोग्राम था और आवक का आंकड़ा 1,370.9 टन दर्ज की गई।

शर्मा ने बताया कि देश के प्रमुख प्याज उत्पादक राज्यों में हुई भारी बारिश के कारण नई फसल खराब होने और उसकी आवक में विलंब होने की आशंकाओं से प्याज की आवक अभी भी खपत के मुकाबले कम है, जबकि ऊंचे भाव के कारण खपत में कमी आई है।

पिछले सप्ताह प्याज की आवक घटने से इसका थोक भाव 50 रुपये प्रति किलोग्राम से ऊंचा हो गया था, जबकि दिल्ली और एनसीआर के विभिन्न बाजारों में प्याज का खुदरा भाव करीब 75 रुपये प्रति किलोग्राम हो गया था।

वहीं, कृपलानी ने बताया कि कश्मीर में बारिश नहीं होने की वजह से सेब की क्वालिटी पर असर पड़ा है। उन्होंने बताया कि कश्मीरी से अभी आवक भी जोर नहीं पकड़ी है।

उन्होंने बताया कि शिमला से इस समय तकरीबन 2,500-3,000 टन सेब आ रहा है, जबकि कश्मीर से 1,500-1,600 टन सेब आ रहा है।