comScore

RBI गर्वनर शक्तिकांत दास बोले- G20 देशों में भारत की स्थिति बेहतर


हाईलाइट

  • आरबीआई गर्वनर शक्तिकांत दास की प्रेस कॉन्फ्रेंस
  • रिवर्स रेपो रेट में की गई कटौती

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस महामारी के कारण अर्थव्यवस्था चौपट हो रही है। इस बीच इकॉनोमी को पटरी पर लाने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गर्वनर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) ने आज बड़े ऐलान किया। उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया। आरबीआई गवर्नर (RBI Governor) ने कहा, 'कोरोना संकट के बीच बैंक सभी हालात पर नजर रखे हुए हैं। कोविड-19 (COVID-19) के कारण जीडीपी की रफ्तार घटेगी, लेकिन बाद में फिर ये तेज रफ्तार में दौड़ेगी।'

वहीं आरबीआई (RBI) ने बड़ी राहत देते हुए रिवर्स रेपो रेट में 0.25 फीसदी की कटौती कर दी है। अब ये 3.75 फीसदी हो गई है। शक्तिकांत दास ने कहा कि नकदी संकट को दूर करने के लिए बैंक की तरफ से मार्केट में 50 हजार करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा, ताकि नकदी में कमी न आए। उन्होंने कहा, 'बैंकों की तरफ से कर्ज मिलने से जनता को कोई परेशानी नहीं होगी। वहीं नाबार्ड, एनएचबी,एनबीएफसी समेच अन्य क्षेत्रों में भी 50 हजार करोड़ रुपए की अतिरिक्त मदद दी जाएगी। 

RBI गवर्नर ने कहा, 'कोरोना के कारण भारत की जीडीपी 1.9 प्रतिशत की  रफ्तार से बढ़ेगी। यह G20 देशों में सबसे बेहतर है। दुनिया में 9 ट्रिलियन डॉलर नुकसान होने का अनुमान है।' उन्होंने कहा कि जब कोविड-19 चला जाएगा तो भारत की जीडीपी एक बार फिर 7 प्रतिशत से अधिक की रफ्तार से बढ़ेगी। गर्वनर ने कहा, 'सकंट की घड़ी में भी कृषि क्षेत्र टिकाऊ है, हमारे पास बफर स्टॉक है। इस साल अच्छी बारिश होने का अनुमान है।'

उन्होंने आगे कहा कि मार्च में 2020 में निर्यात में भारी गिरावट आई थी। इसके बावजूद विदेशी मुद्रा भंडार 476 अरब डॉलर का है, जो 11 महीने के आयात के लिए काफी है। दुनिया में कच्चे तेल के दाम लगातार घट रहे हैं। जिससे फायदा होगा। 

बता दें इससे पहले 27 मार्च को भी आरबीआई गर्वनर ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। जिसमें उन्होंने रेपो रेट में 0.75 फीसद की भारी कटौती का ऐलान किया था।

कमेंट करें
Irzi1