comScore

पेट्रोल-डीजल के दामों के विरोध में बेमियादी हड़ताल पर ट्रक ड्राइवर्स

June 18th, 2018 15:10 IST

हाईलाइट

  • पेट्रोल और डीजल बढ़े हुए दाम और कटौती में कंजूसी कर रही सरकार से नाराज ट्रक ड्राइवर्स ने 18 जून (सोमवार) से देशव्यापी हड़ताल पर जाने का फैसला किया है।
  • पेट्रोल-डीजल की कीमत में इजाफा के कारण लगभग 30-40 प्रतिशत ट्रकों की सेवा ठप पड़ गई है।
  • हड़ताल के दौरान देश भर में 50 लाख ट्रक सड़कों पर नहीं दिखेंगे।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली । पेट्रोल और डीजल बढ़े हुए दाम और कटौती में कंजूसी कर रही सरकार से नाराज ट्रक ड्राइवर्स ने 18 जून (सोमवार) से देशव्यापी हड़ताल पर जाने का फैसला किया है। तेल की कीमतों को कम कराने के लिए ऑल इंडिया कॉन्फेडरेशन ऑफ गुड्स वेहिक्ल ऑनर्स एसोसिएशन (एआईसीजीवीओ) ने सोमवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी है। संगठन के अनुसार, तेल की कीमतों को शीघ्र कराने की मांग को लेकर देश भर में 50 लाख ट्रक सड़कों पर नहीं दिखेंगे। इससे पहले ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस (एआईएमटीसी) ने भी 20 जुलाई से इसी मांग के साथ अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की घोषणा कर रखी है।

ये भी पढ़ें - वीडियोकॉन लोन मामला: ICICI बैंक और चंदा कोचर अमेरिकी मार्केट रेग्‍युलेटर SEC के रडार पर

पेट्रोल डीजल की कीमतों में कमी, तेल की कीमतों को जीएसटी के अंदर लाने और थर्ड पार्टी इंश्योरेंस प्रीमियम में कटौती भी मांगों में शामिल है। द इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलेपमेंट अथॉरिटी आफ इंडिया (आईआरडीएआई) ने कहा कि थर्ड पार्टी देनदारी बीमा को साल 2018-19 के लिए बदलाव कर 30 फीसदी कर दिया है।

 

ये भी पढ़ें -सस्ता तेल पान भारत-चीन के बीच ऑयल बायर्स क्लब बनाने पर हुई चर्चा

क्या है मांगें?

ट्रक मालिकों का कहना है कि हम पहले से ही महंगे डीजल के कारण परेशान हैं, साथ ही टायर और स्पेयर पार्ट्स की कीमतें भी काफी बढ़ गई हैं, जिसकी वजह से गाड़ियों का रखरखाव काफी बढ़ गया है। इसके अलावा गाड़ी पर लोन और रोड टैक्स भी काफी ज्यादा है। पेट्रोल-डीजल की कीमत में इजाफा से हालत यह हो गई है कि लगभग 30-40 प्रतिशत ट्रकों की सेवा ठप पड़ गई है। ट्रक मालिक भी क्या करें, नुकसान उठाकर ट्रक चलाना समय के साथ कठिन होता जा रहा है। राज्य में भी ट्रक मालिकों और ट्रक चालकों की स्थिति सही नहीं है।

कमेंट करें
tqbVk