comScore

जेट एयरवेज के लिए आगे आए माल्या, कहा-मेरा पैसा रख लो


हाईलाइट

  • गंभीर वित्तीय संकट से गुजर रही जेट एयरवेज
  • जेट एयरवेज की सहायता के लिए आगे आए विजय माल्या
  • कहा मेरा पैसा रख लो और जेट एयरवेज को बचा लो।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। गंभीर वित्तीय संकट से गुजर रही निजी विमानन कंपनी जेट एयरवेज को बचाने के लिए विजय माल्या आगे आए हैं। उन्होंने कहा है कि बैंक उनसे पैसे लेकर जेट एयरवेज को बचा लें। माल्या ने ट्वीट कर जेट एयरवेज को बचाने का ऑफर दिया। वहीं सरकार पर भी हमला किया। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि, मैं फिर से कहता हूं कि कर्नाटक हाईकोर्ट के सामने मैंने अपनी संपत्ति रख दी है। जिससे पीएसयू बैंक और अन्य लेनदारों का कर्ज चुकाया जा सके। फिर भी बैंक मेरा पैसा क्यों नहीं ले रही है। यह उन्हें जेट एयरवेज को बचाने में सहायता करेगा। 

माल्या ने दूसरा ट्वीट कर लिखा, 'मैंने किंगफिशर एयरलाइंस और कंपनी को बचाने के लिए 4000 करोड़ का निवेश किया। इसे महत्व ना देकर उल्टा मुझे पर निशाना साधा गया। यही वो पब्लिक सेक्टर बैंक थे जिन्होंने एयरलाइंस और उसके कर्मचारियों को असफल होने दिया। एनडीए सरकार में यह दोहरा रवैया है।'

माल्या ने ट्वीट में लिखा कि, बीजेपी प्रवक्ता ने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह को मेरे पत्रों को पढ़कर सुनाया और आरोप लगाया कि यूपीए सरकार में बैंकों ने किंगफिशर एयरलाइंस का गलत समर्थन किया था। मीडिया ने मुझे वर्तमान प्रधानमंत्री को पत्र लिखने के लिए उकसाया है। मुझे हैरानी है कि एनडीए सरकार के तहत अब क्या बदल गया। 
 

माल्या ने आखिर ट्वीट में लिखा कि, यह देखकर खुशी है कि पब्लिक सेक्टर बैंक जेट एयरवेज को बेल आउट करने के लिए आगे आए। इससे नौकरियां, कनेक्टिविटी और एंटरप्राइज बना रहेगा। बस यह ख्वाहिश रही कि ऐसा किंगफिशर के साथ भी होता।  

बता दें कि वित्तीय संकट से गुजर रही जेट एयरवेज को बचाने की बैंकों की मुहिम के तहत कंपनी के चेयरमैन नरेश गोयल ने इस्तीफा दे दिया है। उनकी पत्नी अनिता गोयल भी निदेशक बोर्ड से हट गई है। गोयल के इस्तीफा देने के बाद भारतीय स्टेट बैंक के अगुवाई वाले बैंकों के समूह ने जेट एयरवेज में 1,500 करोड़ रुपए का निवेश का ऐलान किया है। इस तरह जेट एयरवेज पर इसे कर्ज देने वाले बैंकों का नियंत्रण हो गया है।  

कमेंट करें
Tlthq