फैसला: अकोला महानगरपालिका क्षेत्र में किराए के 17 ट्रैक्टर होंगे बंद

January 20th, 2022

डिजिटल डेस्क, अकोला। महानगरपालिका क्षेत्र में कचरा संकलन व यातायात के कामों के लिए सालों से बिना निविदा प्रक्रिया ट्रैक्टर चलाए गए थे। इस अनियमितता को तत्कालीन आयुक्त ने बंद करने का निर्णय लिया, लेकिन नए ट्रैक्टरों के कार्यान्वयन में हो रही देरी की वजह से मनपा को फिर से 17 ट्रैक्टर किराए पर चलाने पड़े थे। इस बीच मनपा को नए ट्रैक्टर मिल गए है। आगामी सप्ताह में ट्रालियां भी मिलने जा रही है, जिससे किराए के 17 ट्रैक्टर भी बंद हो जाएंगे, जिससे मनपा के लाखों रूपए की बचत होगी।बता दें कि नियमों को ताक पर रखकर चलाए जा रहे ट्रैक्टर, मजदूर आपूर्ति के ठेके पर भी तत्कालीन आयुक्त नीमा अरोरा ने गाज गिराई थी। 1 अगस्त 2021 से सभी 34 ट्रैक्टर तथा 102 मजदूर आपूर्ति का ठेका बंद किया गया था। यह ठेका बिना निविदा ही चलाया जा रहा था। घनकचरा उठाने व यातायात के लिए ट्रैक्टर, मजदूर आपूर्ति का ठेका बेरोजगारोंं की क्षीतिज नागरिक सेवा सहकारी संस्था अमरावती को मनपा ने दिया था। संस्था का ठेका अवधि जून 2015 को खत्म होने के बाद निविदा प्रक्रिया चलाना आवश्यक था, लेकिन निविदा प्रक्रिया नहीं चलाई गई। इस बीच बिना निविदा प्रक्रिया के ही ट्रैक्टर व मजदूर आपूर्ति का अलग-अलग ठेका दिया गया। तब से लेकर जुलाई 2021 तक लगातार मियाद बढ़ाते हुए काम जारी रखा गया था। इस अनियमितता पर बीच-बीच में मनपा अधिकारियों ने सवाल भी उठाए, लेकिन राजनीतिक दबाव की वजह से ठेका जारी रहा था। अंतत: तत्कालीन आयुक्त नीमा अरोरा के ध्यान में आते ही उन्होंने ट्रैक्टर व मजदूर आपूर्ति का ठेका बंद करने का निर्णय लिया। किंतु एकाएक लिए गए निर्णय से तथा मनपा के नए ट्रैक्टर आने बाकी होने से स्वच्छता कार्य प्रभावित हो गया था। इस कारण चंद महीनों में ही मनपा को फिर से 17 ट्रैक्टर किराए पर चलाने पड़े, जो अब बंद होने जा रहे है। मनपा ने 20 ट्रैक्टर खरीदे है, जिनकी ट्रालियां न आने से वे ढाई माह से मनपा में खड़े है। इस सप्ताह ट्रालियां मिलने जा रही है, जिससे नए ट्रैक्टर स्वच्छता कार्य में जुट जाएंगे।