पन्ना: धूम्रपान, तंबाकू एवं शराब के सेवन से कैंसर का खतरा

February 5th, 2022

डिजिटल डेस्क, पन्ना। विश्व कैंसर दिवस पर कैंसर की बीमारी को लेकर लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य के साथ जिला चिकित्सालय पन्ना में कैंसर जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। आयोजित शिविर में कैंसर के लक्षणों की पहचान, उपचार तथा कैंसर के प्रमुख कारणों के संबध में चिकित्सा अधिकारियों द्वारा जानकारी दी गई। हेल्थ वेलनेस सेण्टर में प्रश्नोत्तरी, निबंध, चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। स्वास्थ्य संस्थाओं जिला चिकित्सालय, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों, में कार्यक्रम आयोजित किए गए। कैंसर स्क्रीनिंग एवं परामर्श सत्रों का आयोजन किया गया। जिला चिकित्सालय पन्ना में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आर.एस. पाण्डेय ने बताया कि कैंसर रोग में शरीर की कोशिकाओं के समूह में अनियंत्रित रूप से वृद्धि होती है जब ये कोशिकाएं टिशू को प्रभावित करती है तो कैंसर शरीर के अन्य हिस्सों में फैल जाता है। कैंसर की जल्दी पहचान और उपचार से कैंसर से ठीक हो सकता है। कैंसर कई प्रकार होते हैं जैसे स्तन कैंसर, गर्भाशय कैंसर, मुंह व गले का कैंसर, फेफड़ों का कैंसर, ब्रेन कैंसर आदि पन्ना सिविल सर्जन डॉक्टर एल.के. तिवारी के द्वारा बताया गया कि कैंसर होने के कुछ कारक ऐसे होते हैं। जिनसे कैंसर होने का खतरा किसी को भी हो सकता है जैसे धूम्रपान, तंबाकू चबाना, मोटापा, शराब का उपयोग और शारीरिक रूप से निष्क्रिय रहना है। कैंसर के लक्षण की सही समय पर पहचान करना बेहद जरुरी है जिले की सभी स्वास्थ्य संस्था में कैंसर रोग स्क्रीनिंग जा रही है। मरीज में कैंसर के संभावित लक्षण दिखने पर आसंचारी रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत जांच कर निशुल्क उपचार प्रदान किया जाता है। शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पन्ना में भी कैंसर जागरूकता दिवस मनाया गया। जिसमें डीसीएम दीपक सिंह राजपूत के द्वारा बताया गया कि तंबाकू सेवन करने वाले 50 प्रतिशत लोगों में सामान्य उम्र की तुलना में मृत्यु की संभावना बढ़ जाती है। महिलाओं में स्तन कैंसर के केस अधिक पाए जाते हैं। कैंसर जागरूकता निशुल्क शिविर का आयोजन जिला चिकित्सालय में किया गया। जिसमें कैंसर संबंधी स्वास्थ्य उपचार, जैसे कीमोथेरेपी, रेडिएशन थेरेपी सर्जरी एवं स्तन कैंसर एमुख का कैंसर आदि के बारे में जानकारी दी गई। कार्यक्रम में मुख्य से चिकित्सा विशेषज्ञ डॉक्टर एस.के. त्रिपाठी, डॉ. आलोक गुप्ता, डॉ निधि जैन, डॉक्टर नीति महदेले, स्टाफ  नर्स दिनेश केवट व शिवानी विश्वकर्मा एवं समस्त स्टाफ उपस्थित रहा।