दैनिक भास्कर हिंदी: बावनकुले का आश्वासन, अब स्वर्णकारों की समस्या करेंगे हल

May 29th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। स्वर्णालंकार मासिक की ओर से 26 मई को सुबह 10 बजे से कविवर्य सुरेश भट्ट सभागृह, रेशमबाग में  सोनार महोत्सव का आयोजन किया गया। महोत्सव में स्वर्णकारों के कई संगठनों ने भाग लिया। पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले प्रमुखता से उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता पुणे से आए वरिष्ठ समाज सेवक विजयराव फलणीकर ने की। इस अवसर पर पालकमंत्री बावनकुले ने स्वर्णकार समाज की मांगों को पूर्ण करने का आश्वासन दिया। उन्होंने बहुप्रतिक्षित समाज भवन की मांग को जल्द से जल्द पूर्ण करने व समाज भवन के लिए सरकार की ओर से जगह प्रदान का आश्वासन दिया। साथ ही व्यापार में भादवि की धारा 411 के कारण आ रही  समस्याओं को गृह मंत्रालय से चर्चा कर दूर करने का आश्वासन दिया। उन्होंने बताया कि दक्षता कमेटी का गठन कर लिया गया है, यह शीघ्र ही कार्यरत होगी। इससे व्यापार में आ रही परेशानियां दूर होंगी। व्यासपीठ पर विधायक सुधाकर कोहले, कृष्णा खोपड़े व गिरीश व्यास, नाना शंकरशेठ प्रतिष्ठान मुंबई के अध्यक्ष सुरेंद्र शंकरशेठ, वास्तु विशेषज्ञ डा. रविराज अहिरराव, अखिल मालवी सोनार महासंघ के अध्यक्ष विलासराव अनासाने, विट्ठलराव निंगुसकर मुंबई, दैनिक भास्कर के संपादक मणिकांत सोनी, महोत्सव के संयोजक पुरुषोतम कावले, स्वर्णालंकार के मुख्य संपादक प्रकाश माथने, स्वागताध्यक्ष राजेश रोकड़े, भारतीय स्वर्णकार समाज के शहराध्यक्ष नरेश मस्के, महाराष्ट्र वैश्य संघ के अध्यक्ष अनिल वालोकर, मालवी सुवर्णकार संस्था के अध्यक्ष सुरेश आसरे, झाडे सुवर्णकार संस्था के अध्यक्ष अनिल खरवडे, सोनार सेवा महासंघ के अध्यक्ष ओंकार मस्के, सुवर्णकार विकास संघ के सूरज ढोमणे, लाड सुवर्णकार संस्था के सुधीर देशकर सोनी मित्र मंडल के अशोक सोनी, स्वजातीय वैश्य सुवर्णकार समाज के सारंग दाभाडे, पांचाल सुवर्णकार संस्था के किशोर आकोजवार, दैवेज्ञ सुवर्णकार संस्था के  नंदकिशोर बंसोड़, स्वर्णकार एकता संस्था के मोहन हिरुलकर, आल इंडिया सोनार फेडरेशन के अध्यक्ष देवेंद्र शेरेकर, उपस्थित थे। कार्यक्रम का आरंभ दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। महोत्सव में संपूर्ण प्रदेश से करीब 6 हजार लोगों ने भाग लिया। प्रस्तावना संयोजक प्रकाश मथाने ने पढ़ी। उन्होंने सभी सोनार समाज की सभी उपशाखाओं के एकत्र होने की आवश्यकता पर जोर दिया। अन्य अतिथियों ने भी अपने मनोगत रखे। दोपहर में द्धितीय सत्र में व्यापारी संवाद व परिचर्चा का आयोजन हुआ। संयोजन राजेश रोकड़े तथा वत्सल बांगरे ने किया। स्वर्णकारों के प्रशनों के उत्तर संजय ढोमणे वर्धा, राजेश लोंदे, सुधीर दारोडकर, सौरभ ढोमणे ने दिए व मार्गदर्शन किया। युवा संवाद में डा. अजय कुर्वे, अतुल लोंढे, मनीष विंचुरकर व चेतन वालीगुंजे ने अपने अनुभव साझा किए। 
 

महिला सम्मेलन
महिला सम्मेलन में प्रमुख अतिथि के रूप में महापौर नंदा जिचकार उपस्थित थीं। अध्यक्षता आल इंडिया सोनार फेडरेशन की उपाध्यक्ष अनिता दारव्हेकर ने की। व्यासपीठ पर स्वागताध्यक्ष सविता पाटणे, कांचन भुतड़ा, माया हाडे, संजीवनी ढोमणे, अनामिका रोकड़े, प्रवीणा मर्जीवे, दीपाली ढोमणे, मीना अनासाने, अर्चना खांडेकर, नीता पोतदार, चारूलता पावसेकर, मंदा बांगरे, मनीषा कावले, सुलभा माथने, भारतीय अरमरकर, स्वर्णकार समाज की अध्यक्ष राधा घोडे, कांचन शेटे, कांचन ढोले उपस्थित थीं। संचालन पूनम गुरब व अनिल मालोकर ने किया। सोनार सेवा महासंघ की ओर से अवंती हर्षे के त्रिविधा कला निकेतन ने गणेश वंदना की। संध्याकाल के सत्र में नृत्य, वेषभूषा प्रतियोगिता, महाराष्ट्र स्वर्ण सुंदरी प्रतियोगिता व अन्य कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।