comScore

चिटफंड कंपनी का मास्टरमाइंड गिरफ्तार, करोड़ों रुपये की ठगी का मामला

September 10th, 2020 22:46 IST
चिटफंड कंपनी का मास्टरमाइंड गिरफ्तार, करोड़ों रुपये की ठगी का मामला



डिजिटल डेस्क सीधी। अमन इन्फ्राहाइट्स लिमिटेड कंपनी के नाम पर हितग्राहियों से धोखाधड़ी कर रुपये ठगने वाले मास्टर माइंड को चुरहट पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। चिटफंड कंपनी द्वारा हजारों हितग्राहियों से रुपये लिए जा चुके हैं। जिले में पांच चिटफंड कंपनियों के खिलाफ अलग-अलग थानों में धोखाधड़ी के मामले दर्ज किए किए हैं।
बताया गया है कि पुलिस अधीक्षक सीधी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के निर्देशन तथा एसडीओपी चुरहट के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी चुरहट निरीक्षक हितेंद्र नाथ शर्मा के नेतृत्व में अमन इन्फ्राहाइट्स लिमिटेड नामक चिटफंड कंपनी के सरगना को कड़ी मशक्कत के बाद अभिरक्षा में लेकर पूछताछ जारी है। अमन इन्फ्राहाइट्स लिमिटेड कंपनी के डायरेक्टर राजीव कुमार उर्फ डॉक्टर आजाद पिता दूधनाथ साकेत एवं कंपनी के अन्य पदाधिकारियों द्वारा चारपहिया वाहनों से गांव-गांव जाकर बेईमानी पूर्वक यह प्रचार प्रसार किया गया की कंपनी में जो भी राशि किसी व्यक्ति द्वारा जमा की जाएगी उसमें काफी ब्याज मिलेगा साथ ही राशि जल्द ही दोगुनी कर देंगे। जनता को लुभाने तथा आकर्षित करने के लिए उन्ही की गाढ़ी कमाई से लिए गए पैसों द्वारा अपने एजेंटों को चार पहिया तथा दो पहिया वाहन कंपनी के प्रचार-प्रसार हेतु प्रदान किया गया। कंपनी के लुभावने वायदे में आकर शिकायतकर्ता एवं अन्य व्यक्तियों द्वारा उत्प्रेरित होकर कंपनी में 521300 रुपए कंपनी के डायरेक्टर राजीव कुमार उर्फ आजाद पिता दूधनाथ साकेत के पास जमा कराई गई। जिसका पॉलिसी बॉन्ड एक नियत तिथि के साथ शिकायतकर्ता एवं अन्य पीडि़तों को दिया गया। पॉलिसी मैच्योर होने के उपरांत जब शिकायतकर्ता एवं अन्य व्यक्तियों द्वारा रकम वापस करने की बात कही गई तो कंपनी द्वारा उन लोगों को चेक प्रदान कर कहा गया कि बैंक जाकर चेक से रकम प्राप्त कर ले। शिकायतकर्ताओं द्वारा जब बैंक जाकर चेक को रकम में तब्दील करने को कहा गया तो पता चला कि चेक फर्जी हैं। जिस पर शिकायतकर्ताओ द्वारा जब थाने में उपरोक्त बातें रखते हुए रिपोर्ट की गई तो मामला गंभीर होने के कारण थाना प्रभारी चुरहट द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया एवं उनके निर्देशानुसार टीम बनाकर साइबर सेल सीधी की सहायता से धोखाधड़ी के सरगना राजीव कुमार उर्फ डॉक्टर आजाद पिता दूधनाथ साकेत को हिरासत में लिया गया एवं पूछताछ करने पर आरोपी द्वारा जिले भर में लगभग 2000 लोगों से एक करोड़ रुपये तक जमा करने की बात को कबूल किया गया है। आरोपी से अभी भी पूछताछ जारी है। कार्रवाई में निरीक्षक हितेंद्र नाथ शर्मा, उपनिरीक्षक रमा गोविंद द्विवेदी, आरक्षक नवीन द्विवेदी, नवीन सिंह तथा मुकेश एवं सायबर सेल सीधी से प्रदीप मिश्र, आनंद कुशवाहा एवं कृष्ण मुरारी द्विवेदी का सराहनीय योगदान रहा है।

कमेंट करें
jNUdQ