दैनिक भास्कर हिंदी: 50 हजार की रिश्वत लेते पकड़ा गया बिजली कंपनी का कार्यपालन यंत्री

May 2nd, 2019

डिजिटल डेस्क, सागर। जिले के उपनगर मकरोनिया क्षेत्र में स्थित पूर्व क्षेत्र वितरण कंपनी के मुख्य अभियंता कार्यालय परिसर में लोकायुक्त पुलिस  ने 50 हजार रूपए की रिश्वत लेते हुए कार्यपालन यंत्री विनय कुमार गुप्ता को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। आरोपी 10 लाख रुपए के भुगतान के बदले पीड़ित से 50 हजार रुपए की मांग कर रहा था। पीड़ित की शिकायत पर लोकायुक्त पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उसे गिरफ्तार किया है। लोकायुक्त पुलिस ने प्रारंभिक कार्यवाही पूर्ण कर रिश्वत खोर कार्यपालन यंत्री गुप्ता को जेल भेज दिया है।

10 लाख की राशि के भुगतान के बदले ठेकेदार से की मांग-
सागर लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक रामेश्वर सिंह यादव ने स्वयं इस ट्रेप कार्यवाही का नेतृत्व किया तथा दो टीम बनाई गई थी। प्रथम टीम में निरीक्षक बीएम द्विवेदी ने विद्युत मंडल कार्यालय परिसर में स्थित कार्यपालन यंत्री विनय कुमार गुप्ता को शिकायतकर्ता शिवहरी पांडे से 50 हजार रूपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों धरदबोचा। आधिकारिक जानकारी के अनुसार रजाखेड़ी निवासी शिवहरी पांडे विद्युत मंडल में ठेकेदारी का काम करता है। जिसकी बिल राशि 10 लाख का ढाई साल से भुगतान लटका हुआ है।

कार्यपालन यंत्री विनय गुप्ता ने इस राशि का भुगतान पर 5 प्रतिशत कमीशन रिश्वत के रूप में मांगी थी, उक्त राशि 50 हजार रुपए जो कार्यपालन यंत्री लेते हुए पकड़े गए हैं। गुप्ता सतना के निवासी बताए गए हैं तथा पिछले 10 वर्षों से कार्यपालन यंत्री के पद पर सागर में ही पदस्थ हैं।

आलीशान बंगले पर भी दी दबिश-
लोकायुक्त की दूसरी टीम में निरीक्षक राजेश खेरे ने कार्यपालन यंत्री गुप्ता के मकरोनिया में ही दीनदयाल नगर कॉलोनी स्थित आवास पर छापा मारा तथा आवास में पाई गईं कीमती वस्तुओं की सूची बनाई गई। कार्यपालन यंत्री का आवास आलीशान बना हुआ है। गुप्ता के चल-अचल संपत्ति तथा बैंक खातों को खंगाला जा रहा है। यह कार्यवाही 6 दिनों में पूरी होने की संभावना है।

खबरें और भी हैं...