दैनिक भास्कर हिंदी: किसान आंदोलन : अधिकारी अलर्ट पर, मंडी में घटी आवक, सब्जियां भी कम आई

June 2nd, 2018

डिजिटल डेस्क, छिंदवाड़ा। किसान आंदोलन का असर धीरे -धीरे दिखाई देने लगा है। आज छिंदवाड़ा मंडी में किसानी माल की आवक काफी कम दिखाई दी। फलों की आवाक में कोई असर दिखाई नहीं दिया, किंतु सब्जियों की आवक प्रभावित रही। कल पानी गिर जाने के कारण भी ऐसा होना संभव है, हांलाकि कहीं किसी चीज की कमी नहीं रहीं।  मुख्यमंत्री के आगमन के साथ-साथ किसान आंदोलन को लेकर प्रशासनिक अलर्ट दिखाई दिया। दिन भर प्रशासनिक अधिकारी इन आंदोलन की टोह विकासखंड स्तर से लेते रहे हैं। लेकिन बाकी जिलों की तरह छिंदवाड़ा में कहीं भी किसान आंदोलन जैसी गतिविधि नहीं हुई। हालांकि दूसरे जिलों में हुए आंदोलन से मंडियों में इसका असर जरुर दिखाई दिया।

1 जून से पूरे प्रदेश भर में किसान आंदोलन हो रहा है जिसका अलर्ट हफ्ते भर पहले ही राज्य सरकार ने स्थानीय अधिकारियों को जारी कर दिया था। किसान आंदोलन के दूसरेे दिन प्रदेश के कई जिलों में किसानों ने सड़क पर उतर कर प्रदर्शन किया। लेकिन छिंदवाड़ा में कहीं भी कोई अप्रिय घटना नहीं हुई। हां, लेकिन मंडियों में किसानों की आवक पर इसका साफ असर दिखाई दिया। छिंदवाड़ा की मंडियों में 70 फीसदी तक उपज कम आई।

दूसरे जिलो से नहीं आई सब्जियां
दूसरे जिलों से भी छिंदवाड़ा सब्जी मंडी में उपज आती है, लेकिन शुक्रवार शनिवार को बाहरी जिलों से आने वाली सब्जियां छिंदवाड़ा नहीं आई। इतना ही नहीं जिले के किसानों ने भी अपनी उपज छिंदवाड़ा लाने में कोई खास रुचि नहीं दिखाई। कहा जा रहा है कि यदि यही हालात रहे तो आगामी दिनों में सब्जियों के दाम बढ़ सकते हैं।

पशु पालकों ने नहीं बेचा दूध
परासिया में किसान आंदोलन के तहत  पशु पालकों ने दूध की बिक्री नहीं की। समितियों को सप्लाई होने वाला दूध किसानों द्वारा नहीं दिया गया। प्रतिदिन किसानों द्वारा 11 से 12 हजार लीटर से ज्यादा दूध दिया जाता है लेकिन शनिवार को 1075 लीटर से भी कम दूध सांची में पहुंच पाया।