• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • financial constraints, wife and two girls were hanged and killed - the chief survived the breaking of the rope

दैनिक भास्कर हिंदी: आर्थिक तंगी के कारण पत्नि और दो बच्चियों को फाँसी पर लटकाकर मार डाला - रस्सी टूटने से बच गया मुखिया 

November 7th, 2019

डिजिटल डेस्क  सागर। संभागीय मुख्यालय सागर के भोपाल-झाँसी बाईपास मार्ग पर स्थित बम्हौरी रेंगुवा में आर्थिक तंगी के कारण परिवार के मुखिया ने अपनी पत्नि व दो बच्चियों को फाँसी पर लटकाकर मार डाला तथा स्वयं भी फाँसी के फँदे पर झूल गया। लेकिन रस्सी  टूटने के कारण परिवार का मुखिया जमीन पर गिर पड़ा और बच गया। आशंका है कि मुखिया ने पत्नि और बच्चियों को फाँसी पर लटकाने से पहले जहर खिलाया और खुद भी जहर खाया।  इस हृदय विदारक घटना के गाँव में सनसनी फैल गई।
 सागर से 3 किलोमीटर दूर मोतीनगर थानांतर्गत ग्राम बम्हौरी रेंगुवा निवासी मनोज पटैल ने आर्थिक तंगी के कारण गुरूवार की सुबह अपने घर में पहले दोनों बच्चियों सोनम और जिया को फाँसी पर लटकाकर मार डाला तथा पत्नि पूनम और स्वयं मनोज पटैल फाँसी पर लटके किन्तु मनोज की फाँसी की रस्सी टूट गई और वह जमीन पर गिर पड़ा। इस हादसे में पत्नि पूनम की भी मृत्यु हो गई। मनोज पटेल को  गंभीर हालत में मेडीकल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहाँ मनोज की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है। हादसे की सूचना मिलते ही नगर पुलिस अधीक्षक आर डी भारद्वाज, टीआई संगीता सिंह और एफएसएल टीम मौके पर पहुँची। 
दो बच्चियाँ बच गई 
मनोज पटैल की चार बेटियाँ थी जिनमें दो बेटी जुड़वा थी। दोनों जुड़वा बेटियाँ अलग मकान में अपने दादा-दादी तथा ताऊ के पास थी। इसलिए दोनों इस हादसे के शिकार होने से बच गई। पुलिस के अनुसार मनोज पटैल और बड़े भाई महेश पटैल गाँव में ही 7 एकड़ भूमि ठेके पर लेकर खेती भी कर रहे है। सभी का एक ही जगह खाना बनता है। मनोज पटैल पत्नि और दो बच्चियाँ अलग मकान में आकर सोते थे। जानकारी के अनुसार मनोज पटैल और महेश पटैल खेती के अलावा मकानों पर पुट्टी का कार्य करते थे। हालांकि मनोज सट्टा खेलता था और शराब पीने का आदी था। पता चला है कि मनोज पटैल के पास बीपीएल कार्ड नहीं था। हालांकि संबल कार्ड (नया सबेरा) होने की जानकारी मिली है।
 इनका कहना है 
 यह सुसाईड का मामला है। मनोज की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं  थी। घटना के कारणों की जांच कराई जा रही है। मृतकों के गले पर फांसी के निशान पाए गए है। पीएम और अन्य साक्ष्यों की पड़ताल के बाद स्पष्ट होगा। पुलिस ने मामला दर्ज कर विवेचना में ले लिया है।
-अमित सांघी, पुलिस अधीक्षक, सागर