comScore

 कार्यपालन यंत्री के दफ्तर व आवास पर लोकायुक्त का छापा,आय से अधिक संपत्ति का मामला 

 कार्यपालन यंत्री के दफ्तर व आवास पर लोकायुक्त का छापा,आय से अधिक संपत्ति का मामला 

डिजिटल डेस्क, सीधी। महान नहर परियोजना कार्यालय सीधी में मंगलवार को लोकायुक्त भोपाल की टीम द्वारा छापा की कार्रवाई कर महत्वपूर्ण रिकार्डों को अपने कब्जे में  लिया गया। महान नहर के कार्यपालन यंत्री सुनील व्यास के आवास पर भी टीम ने पहुंचकर रिकॉर्ड खंगाले। सूत्रों के अनुसार जप्त किए गए रिकार्डों से करोड़ों की काली कमाई की कलई खुलने का अनुमान है ।

दफ्तर में लगा दिया ताला

ज्ञात हो कि आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने की शिकायत पर लोकायुक्त भोपाल की टीम द्वारा महान नहर परियोजना सीधी के कार्यपालन यंत्री सुनील व्यास के सीधी स्थित दफ्तर व आवास पर आज मंगलवार को तड़के करीब 5 बजे छापामार कार्यवाही की गई। इसके अतिरिक्त भोपाल में भी लोकायुक्त की एक अन्य टीम द्वारा कार्यवाही की गई है। बताया गया है कि सीधी में पांच सदस्यीय लोकायुक्त टीम द्वारा कार्यवाही के दौरान उनके आवास विभाग के गोपालदास बांध स्थित रेस्टहॉउस में 80 हजार की सामग्री बरामद की गयी। व्हीआईपी रेस्टहाउस में ही कार्यपालन यंत्री सुनील व्यास रह रहे थे। लोकायुक्त टीम द्वारा अपनी कार्रवाई को लेकर अत्यंत गोपनीयता बरती गई थी जिससे पूरी जानकारी बाहर नही आ सकी है। फिर भी सूत्रों का कहना है कि कार्यपालन यंत्री सुनील व्यास के विरूद्ध आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने की जो शिकायत प्राप्त हुई थी उसके प्रारंभिक जांच के दौरान भी लोकायुक्त टीम को बड़ी जानकारी प्राप्त हुई है। उसी के चलते श्री व्यास के भोपाल से लेकर सीधी तक के ठिकानों को बारीकी के साथ खंगाला जा रहा है। सीधी में पांच सदस्यीय टीम का नेतृत्व निरीक्षक संजय शुक्ला लोकायुक्त भोपाल कर रहे थे। सीधी में लोकायुक्त टीम द्वारा दो स्थानों एवं भोपाल में तीन स्थानों पर आज छापामार कार्रवाई की गई। जिसमें करोड़ों की संपत्ति मिलना बताया जा रहा है।

रेस्टहाउस आवास के पहले कार्यालय में जड़ा ताला

भोपाल लोकायुक्त की पांच सदस्यीय टीम कार्यपालन यंत्री सुनील व्यास के आवास रेस्टहाउस  जाने से पहले टीम  कार्यालय पहुंची जहां चौकीदार को नींद से जगाने के बाद उसकी उपस्थिती में कार्यालय के मुख्य गेट में ताला लगा दिया इसके बाद टीम के सभी लोग गोपालदास बांध स्थित रेस्टहाउस   पहुंचे और उनके कमरे में दाखिल होकर कमरे की छानबीन करते हुये रिकार्ड व सामग्री जप्त कीे। हालांकि कार्यपालन यंत्री के आवास में विशेष कीमती सामग्री नहीं थी लेकिन कमरे में मौजूद सामग्रियों में फ्रीज, कूलर, टीवी, आलमारी, कपड़े व अन्य जरूरत के सामानों को जप्त कर कीमत का आंकलन किया गया है। लोकायुक्त टीम रेस्टहाउस में कार्रवाई के बाद सुबह 10.30 बजे के करीब कार्यालय पहुंची जहां पहले से लगाये ताले को खोलने के पश्चात कार्यपालन यंत्री के कक्ष में रखी फाइलों की भी पड़ताल कर 11 बजे  लोकायुक्त टीम भोपाल के लिये रवाना हो गई। कार्रवाई के दौरान कार्यपालन यंत्री सीधी में नहीं थे।

कमेंट करें
5xjTf