• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Maharashtra government's Vasantrao Naik Khetinishtha Farmer Award presented to Balkrishna Patil Kandari

 नांदुरा: महाराष्ट्र शासन का वसंतराव नाईक खेतीनिष्ठ किसान पुरस्कार बालकृष्ण पाटिल कंडारी को प्रदान

May 6th, 2022

डिजिटल डेस्क, नांदुरा। तहसील के ग्राम कंडारी के बालकृष्ण वासुदेव पाटिल को महाराष्ट्र शासन कृषि विभाग व्दारा दिया जानेवाला राज्यस्तरीय वसंतराव नाईक खेतीनिष्ठ किसान पुरस्कार २ मई को महाराष्ट्र राज्य के राज्यपाल भगतसिंग कोश्यारी एवं उपमुख्यमंत्री अजित पवार की उपस्थिति में प्रदान किया गया। महाराष्ट्र शासन कृषि विभाग व्दारा कृषि क्षेत्र में अच्छा एवं उल्लेखनीय कार्य करने वाले प्रगतिशील किसानों का सम्मान प्रतिवर्ष राज्य शासन व्दारा किया जाता हैं। कृषि क्षेत्र के राज्यस्तरीय वसंतराव नाईक खेतनिष्ठा किसान पुरस्कार महाराष्ट्र के राज्यपाल भगतसिंग कोशारी के हाथों एवं राज्य के उपमुख्यमंत्री अजित पवार की अध्यक्षता में बालकृष्ण पाटिल को दिया गया। इस समय बालकृष्ण पाटिल एवं सौ. आशा पाटिल का सपत्नीक सत्कार कर स्मृतिचिन्ह देकर सम्मानित किया गया। राज्यस्तरीय कृषि पुरस्कार वितरण कार्यक्रम हाल ही में नासिक में संपन्न हुआ। इस समय राज्यपाल एवं  उपमुख्यमंत्री अजित पवार, राजस्व मंत्री बालासाहब थोरात, नासिक के पालकमंत्री छगन भुजबल कृषिमंत्री दादाजी भुसे फलोत्पादन मंत्री संदिपान भुमरे, विश्वजीत कदम, आदिती तटकरे कृषि विभाग के प्रधान सचिव एकनाथ डवले, कृषि आयुक्त धीरजकुमार आदि अतिथि के रूप में उपस्थित थें। बालकृष्ण पाटिल ने खेती में रूची होने से उन्होंने ४० साल कृषि पशुसंवर्धन क्षेत्र में आधुनिक कृषि तकनीक का इस्तेमाल कर बड़े पैमाने पर खेती फसल उत्पादन बढ़ाने के लिए उपयोग किया। उन्होंने कृषि तकनीक का प्रचार एवं प्रसार किया। उसका लाभ नांदूरा तहसील के कई किसानों को हुआ हैं। फलबाग  रोपाई पशुसंवर्धन सूक्ष्म सिंचन उपक्रम के माध्यम से किए कार्य कारण किसानों का जीवनमान उंचा करने के लिए मदद हुई हैं। बालकृष्ण पाटिल के कार्य की दखल लेकर उन्हें कृषि क्षेत्र के वसंतराव नाईक खेतीनिष्ठा किसान पुरस्कार के लिए चयन किया गया। बालकृष्ण पाटिल ने विगत ४० सालों में खेती में कई प्रयोग कर फसलो के अधिक उत्पादन के लिए लगातार प्रयास किए हैं। कई किसानों को उन्होंने मार्गदशन किया हैं। कई किसान हित के उपक्रम उन्होंने चलाए हैं। इस के पहले उन्हें वसंतराव नाईक प्रतिष्ठान पुसद व्दारा १८ अगस्त २००७ को वसंतराव नाईक स्मृति पुरस्कार, वर्ष दो हजार सोलह में जिला परिषद बुलढाणा प्रगतिशील किसान पुरस्कार, वर्ष २०१७ को आदर्श किसान एवं २०१८ में महाएग्रो किसान सम्मान आदि पुरस्कारों से सम्मानित किया गया हैं। इस समय बोलते हुए बालकृष्ण पाटिल ने कहा कि, यह पुरस्कार सिर्फ मेरे अकेले का न होकर राज्य कृषि विभाग, जिला कृषि विभाग, तहसील कृषि विभाग, मेरे परिवार, कृषि क्षेत्र में काम करने वाले शास्त्रज्ञ इन सभी का हैं, ऐसा प्रतिपादन किया।