दैनिक भास्कर हिंदी: चलती ट्रेन में  महिलाओं के साथ छेड़खानी -मारपीट, पीड़ितों ने इंजन के सामने दिया धरना

June 21st, 2019

डिजिटल डेस्क, छतरपुर। यहां पंजाब से मजदूरी करके लौट रहे कुछ मजदूर महिलाओं के साथ छेड़खानी तथा उनके परिजनों के साथ मारपीट किए जाने से गुस्साए मजदूरों ने ट्रेन के सामने ट्रेक पर बैठकर ट्रेन को आधे घंटे तक रोके रखा । पुलिस तथा प्रशासन के आश्वासन के बाद ही ये पीड़ित माने तब कहीं जाकर ट्रेन आगे बढ़ पाई ।

स्टेशन पर बुलाया साथियोंं को 

घटना के संबंध में बताया जाता है कि सुबह 9:00 बजे झांसी से इलाहाबाद खजुराहो लिंक पैसेंजर ट्रेन पर महोबा जिला अंतर्गत श्रीनगर ग्राम के रहने वाले किशन कुशवाहा श्रीमती गिरजा देवी और मुन्ना कुशवाहा पंजाब में मजदूरी करके अपने साथियों के साथ वापस अपने ग्राम आ रहे थे ।झांसी स्टेशन से ट्रेन पर चढ़े कुछ लड़कों द्वारा ओरछा के बाद इन मजदूरों की महिलाओं के साथ छेड़खानी करने लगे। जब महिलाओं के परिजनों ने उन लड़कों का विरोध किया तो लड़कोंं ने अपनें साथियों को बुला लिया और  हरपालपुर स्टेशन पर ट्रेन रुकते ही उक्त आरोपियों के बुलाने पर आए करीब दस पंद्रह लड़कों ने बेल्ट लात घूंसों से उस कंपार्टमेंट के यात्रियों के साथ जमकर मारपीट की ।पीड़ित  परिवार गुहार लगा रहा था  लेकिन सुरक्षा के नाम पर  मदद के लिए कोई आगे नहीं आया। इस मारपीट से  किशन मुन्ना और गिरजा घायल हो गये और वह लड़के अपराध को अंजाम देने के बाद खुलेआम स्टेशन से चले गए । इस पर बौखलाए मजदूर साथी जो कि संख्या में करीब 45 थे और अलग-अलग डिब्बों में बैठे हुए थे सभी एकत्रित होकर ट्रेन के सामने जाकर बैठ गए इस कारण ट्रेन करीब आधे घंटे तक लेट हो गई । 

पुलिस पहुंची घटनास्थल पर

हंड्रेड डायल और  हरपालपुर पुलिस के  पहुंचने के उपरांत भी  मामला  शांत नहीं हो रहा था  बड़े ही मुश्किल से  फरियादी और उसके परिजनों को  रिपोर्ट  दर्ज कराने और अपराधियों के खिलाफ  कार्रवाई का आश्वासन मिलने के बाद  ट्रेन के सामने से  हटे और ट्रेन आगे गंतव्य के लिए  रवाना हुई। परिजनों द्वारा  थाने में पहुंचकर  प्राथमिकी दर्ज कराई और इस घटना में आरोपियों के खिलाफ  लूट और छेडख़ानी  की शिकायत  दर्ज की गई।  करीब  2:00 बजे  आरपीएफ की टीम से  सब इंस्पेक्टर राधेश्याम एवं जीआरपी थाना रीवा से आरक्षक राजा सिंह यादव के साथ घायल यात्रियों के एमएलसी एवं शिकायती आवेदन लेकर शिकायत कर्ताओं को सीधे थाने जीआरपी थाना रीवा ले गए। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अपराध को अंजाम देने वाले उन लड़कों का वीडियो पुलिस के हाथ लग गया और फरियादी  महिला द्वारा उक्त लड़कों की पहचान भी हो गई है । 

इनका कहना है

मैंने सौ नंबर पर फोन लगाया और पुलिस को भी फोन लगाया लेकिन कोई भी यहां पर नहीं आया लगभग 15 मिनट तक वह लोग इन लोगों को पीटते रहे महिलाओं के साथ छेडख़ानी करते रहे । - एसपी यादव  लोको पायलट झांसी इलाहाबाद पैसेंजर

रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा के नाम पर जीआरपी और आरपीएफ के कर्मचारी ना होने के कारण आए दिन स्टेशन परिसर पर असमाजिक तत्वों द्वारा यात्रियों के साथ बदसलूकी की जाती है इसकी मैंने विभाग को भी जानकारी दे दी है। - डीसी रूसिया  सहायक स्टेशन मास्टर हरपालपुर