दैनिक भास्कर हिंदी:  जादू टोना के संदेह में की अधेड़ महिला की हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार 

November 5th, 2019

डिजिटल डेस्क सीधी। रामपुर नैकिन थाना क्षेत्र के कनकटी गांव में हुई अधेड़ महिला की हत्या के मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपियों ने जादू टोना के शक पर महिला की हत्या करना स्वीकारा है। हत्या की योजना महीनों पहले बनाई गई थी। 
चाचा को मार डाला था
जानकारी के अनुसार कनकटी निवासी रामकली सिंह पति स्व रामलाल सिंह गोड़ उम्र 46 वर्ष की  सड़क किनारे हुई हत्या की गुत्थी रामपुर नैकिन पुलिस ने सुलझा ली है। शानिवार को  सड़क किनारे लाश मिलने के बाद पूरे गांव में सनसनी फैल गई थी। जिसकी सूचना ग्रामीणों द्वारा खड्डी पुलिस को दी गई। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुचकर महिला की शिनाख्तगी करते हुए अज्ञात लोगों के खिलाफ  302 का अपराध दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरु कर दी थी। उक्त घटना लगभग शाम सात बजे से आठ बजे के बीच की बताई जा रही है। बताया गया है कि पुलिस शक के आधार पर संतोष विश्वकर्मा एवं मनोज सिंह व अन्य को पकड़ कर कड़ाई से पूछताछ शुुरु करते हुए हत्या में संलिप्त  आरोपियों एवं हत्या के कारणों का पता लगाने के लिए पुलिस अधीक्षक आरएस बेलवंसी के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अंजुलता पटले, एसडीओपी चुरहट लक्ष्मण अनुरागी, रामपुर नैकिन थाना प्रभारी अशोक पांडेय अपने हमराह चौकी प्रभारी खड्डी बिक्रम सिंह एवं पुलिस स्टाफ  की पूरी टीम घटना स्थल पर पहुचकर पूरे मामलें की तह तक पहुँचने के लिए संदिध लोगो को पकड़कर कड़ाई से पूछताछ करना शुरु कर दिये। पूछताछ में आरोपी मनोज सिंह ने पुलिस को बताया कि मेरी चाची जादू टोना सीखी थी। उसने हमारे चाचा को जादू टोना करके मार डाला था। मेरे पिता व मेरे बेटे की भी तबियत खराब थी मेरी चाची उनको भी आये दिन टोना मारा करती थी। टोना से ही संतोष विश्वकर्मा के पिता जी को भी मार डाला है जिस कारण  हम दोनों लोग एक माह पहले नहर के किनारे बैठकर प्लान किये कि अब इसको भी जिंदा नही रहने देना है। कल शाम दोनो संतोष विश्वकर्मा के घर मे बैठ कर रामकली के आने का इंतजार कर रहे थे। जैसे ही रामनिवास तिवारी के घर से काम करके वापस आ रही थी तभी हम चाची के साथ बात करते उसके घर तरफ आये और जैसे ही घर के करीब पहुचे तो चाची के गले मे एक टाँगी जड़ दिये। इस दौरान उसने हाथ आड़ लिया जहां बाद में पकड़ कर मुह दवा लिया जिससे चाची जमीन में गिर गई। इसके बाद हम दो-तीन टांगी चाची के गले मे और मार दिये। मेरे पीछे आ रहे संतोष को टांगी देकर अपने पुराने घर पोस्ता चला गया। संतोष विश्वकर्मा ने बताया कि उसने टांगी हैेण्डपम्प में धोया और घर के सामने रखे पियरा में छिपा दिया। आरोपियो ंकी गिरफ्तारी में बिक्रम सिंह उपनिरीक्षक , सहायक उपनिरीक्षक मुनेंद्र पांडेय, प्रधान आरक्षक भूपेंद्र बागरी, आरक्षक आशिफ  खान, शिवशंकर चौवे, राकेश पाठक, सैनिक राजबहोर पांडेय का विशेष योगदान रहा। 
इनका कहना है-
कनकटी गांव में शानिवार को रामकली की हुई हत्या में शामिल आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। दोनो आरोपियों से जब कड़ाई से पूछताछ की गई तो दोनो ने अपना जुर्म कबूल लिया। दोनो को आज ही न्यायालय में पेश किया गया है जहाँ से जेल भेज दिया गया है। 
अशोक पांडेय थाना प्रभारी रामपुर नैकिन