कोतमा: बेटे के आने की खबर मिलते ही खुशी से छलक पड़ीं आंखें

March 1st, 2022

डिजिटल डेस्क , कोतमा  । यूक्रेन के जफरोजिया शहर में फंसे कोतमा निवासी छात्र की वतन वापसी की सूचना मिलते ही परिवार में खुशियों का ठिकाना नहीं है। सरकार ने कोतमा निवासी हिमांशु सोनी सहित कई भारतीय विद्यार्थियों की वापसी की प्रक्रिया शुरू कर दी है। हिमांशु सोनी की मां मीना सोनी का कहना था कि जैसे ही यूक्रेन में युद्ध शुरू होने की खबर सुनी हम लोगों की सांसें थम गई थीं। हर समय बेटे की सलामती की दुआ कर रहे थे। आज हमें बड़ी प्रसन्नता है कि हमारा बच्चा सुरक्षित वहां से बॉर्डर के लिए ट्रेन के रवाना हो गया है और जल्दी वह हमारे बीच सही सलामत पहुंच जाएगा। उन्होंने सरकार को धन्यवाद ज्ञापित किया है। गौरतलब है कि हिमांशु सोनी के यूक्रेन में फंसे होने की खबर दैनिक भास्कर ने प्रमुखता से उठाई थी। 
टे्रन से बॉर्डर के लिए हुए रवाना
केंद्र सरकार द्वारा २८ फरवरी को यूक्रेन के जफरोजिया शहर के स्टेट यूनिवर्सिटी में फंसे भारतीय छात्रों को वापस लाने की प्रक्रिया शुरू की गई। दोपहर में छात्रों का जत्था जफरोजिया से ट्रेन उडेसा के लिए निकल गया है। वहां से स्लोवेनिया बॉर्डर पहुंचेगा। कोतमा निवासी हिमांशु सोनी ने फोन पर परिजनों को बताया कि बॉर्डर पहुंचने में 15 घंटे लगेंगे। उसके बाद भारत सरकार द्वारा हमें देश में लाने की व्यवस्था की जाएगी। हिमांशु सोनी ने  लग रहा है कितनी जल्दी अपने परिवार के बीच अपने देश पहुंच जाएं।
 

खबरें और भी हैं...