comScore

पटवारी से सांठगांठ कर डकार गए मुआवजा राशि - किसानों का आरोप

पटवारी से सांठगांठ कर डकार गए मुआवजा राशि - किसानों का आरोप

डिजिटल डेस्क सीधी। बहरी तहसील के अंतर्गत ग्राम जनकपुर में अधिग्रहित गुलाबसागर नहर परियोजना के लिये किये गये भू-अर्जन में कुछ भूमि स्वामियों की जमीन तो अधिग्रहित कर ली गई किंतु मुआवजा वास्तविक पट्टेदारों को न देकर अन्य को दे दिया गया है। प्रभावित भूमि स्वामियों का आरोप है कि हल्का पटवारी ने सांठ गांठ कर भूमि की मुआवजा राशि दूसरे के खाते में जमा करा दी है और इस संबंध में पटवारी से बात करने पर उसके द्वारा पट्टेदारों को डांट फटकार लगाई जाती है। जिससे परेशान भूमि स्वामियों ने कलेक्टर जनसुनवाई में आवेदन देकर न्याय की अपील की है। बता दें कि बहरी तहसील अंतर्गत ग्राम जनकपुर में गुलाब सागर नहर परियोजना के तहत भू अर्जन कराये गये हैं जहां भूमि आराजी क्रमांक 40/ 0.116 हे. व 42/ 0.02 हे. के भूमि स्वामियों कन्हैयालाल, अशोक गुप्ता, सीता प्रसाद गुप्ता, चंद्रकिठुन गुप्ता तथा राजा प्रसाद गुप्ता समस्त के पिता भैयालाल गुप्ता की भूमियां वर्ष 2017 में अधिग्रहित करने के बाद नहर की खुदाई के कार्य भी करा लिये गये हैं। भू-अर्जन के पश्चात भूमियों की मुआवजा राशि माह अगस्त 2019 में भेजी गई जिसे हल्का पटवारी ने सांठ गांठ कर जिन उक्त पट्टेदारों को नोटिस जारी की गई थी उनके खाते न संलग्र कराकर अनावेदक के खाते को संलग्न कराकर राशि अनावेदक के खाते में भेजी गई है। लिहाजा वास्तविक भूमि स्वामियों को मुआवजा राशि न मिलने से उन्हें दर-दर भटकने को मजबूर होना पड़ रहा है। 
4 लाख 68 हजार का मुआवजा
माह अगस्त 2019 में अनावेदक के बैंक खाते में भेजी गई राशि जानकारी के अनुसार 4 लाख 68 हजार बताई जा रही है जो ग्राम जनकपुर भूमि आराजी क्रमांक 40/0.116 व 42/ 0.024 हे. में से 35 डिस्मिल अधिग्रहण के एवज में भेजी गई है। जिसके पट्टेदार गुप्ता परिवार के सदस्य हैं। भू अर्जन के समय गुप्ता परिवार केा तहसील बहरी द्वारा नोटिस भी जारी की गई थी किंतु मुआवजा दिलाने में पटवारी ने भूमि के गलत दस्तावेज केा बैंक खाता नंबर भेजकर भूमि स्वामियों के विरूद्ध जालसाजी की है। 
 

कमेंट करें
qdMyJ